comScore

थ्योरी एग्जाम में प्रदर्शन के अनुसार देंगे इंटरनल परीक्षा के अंक

थ्योरी एग्जाम में प्रदर्शन के अनुसार देंगे इंटरनल परीक्षा के अंक

डिजिटल डेस्क, नागपुर। बीए परीक्षा में इंटरनल अंक नहीं मिलने के कारण फेल हुए सावनेर के हरिभाऊ आदमने कॉलेज के 125 विद्यार्थियों को राष्ट्रसंत तुकड़ोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय इंटरनल अंक देने जा रहा है। विद्यार्थियों ने लिखित परीक्षा में जैसा प्रदर्शन किया होगा, उसके 20 प्रतिशत अंक उन्हें इंटरनल के रूप में दिए जाएंगे। यूनिवर्सिटी की ग्रीवियंस कमेटी ने हाल ही में यह निर्णय लिया है। हां, जानबूझकर फेल करने के आरोपों से घिरे शिक्षक मिलिंद साठे पर विश्वविद्यालय नहीं, कॉलेज का प्रबंधन नियमानुसार कार्रवाई करेगा। विश्वविद्यालय द्वारा अगस्त में घोषित बीए के नतीजों में सावनेर के हरिभाऊ आदमने कॉलेज के करीब 125 विद्यार्थी फेल हो गए थे। विद्यार्थियों को मराठी विषय के शिक्षक ने इंटरनल नंबर नहीं दिए, उन्हें सीधे तौर पर अनुपस्थित दिखाया गया। लिहाजा, उनका रिजल्ट "फेल' के रूप में आया।

विद्यार्थियों ने इस संबंध में शिक्षक मिलिंद साठे के खिलाफ विश्वविद्यालय की ग्रीवियंस कमेटी को शिकायत की थी, जिसमें विद्यार्थियों ने साठे पर पैसे मांगने के आरोप लगाए  इस विषय को प्रमुखता से उठाया गया  था। मामले से जुड़े पक्ष सुनकर कॉलेज स्तर पर ग्रीवियंस कमेटी गठित करके इस प्रकरण की आंतरिक जांच करने के आदेश दिए। कॉलेज ने  दामोदर पराते की अध्यक्षता  में समिति गठित की। समिति ने निरीक्षण दिया कि, शिक्षक ने जानबूझकर पैसे उगाही की दृष्टि से विद्याथर्थियों पर दबाव डाला और उन्हें अनुपस्थित दर्शाया। समिति ने विद्यार्थियों को इंटरनल अंक देने की सिफारिश की थी, जिसके बाद कमेटी ने यह निर्णय लिया है। 

काशित ने जीता गोल्ड
उपराजधानी के काशित नगराले ने जिला हार्डकोर्ट टेनिस संघ द्वारा आयोजित ऑल इंडिया सुपर सीरीज रैंकिंग चैंपियनशिप सीरीज अंडर-14 लॉन टेनिस स्पर्धा के बालक एकल के खिताब पर कब्जा जमा लिया। स्पर्धा के निर्णायक मैच में काशित ने हैदराबाद के धीराज रेड्डी को लगातार सेट में 6-2, 6-1 से पराजित कर दिया। मुकाबले से पहले एक रोमांचक संघर्ष की अपेक्षा की जा रही थी, लेकिन काशित ने अपने विस्फोटक प्रदर्शन से धीराज की फॉर्म को बौना साबित कर दिया।

रामनगर स्थित एमएसएलटीए टेनिस सेंटर में आयोजित स्पर्धा के पुरस्कार वितरण समारोह में मॉयल के वित्तीय निदेशक राकेश तुमाने, नागपुर जिला संघ के उपाध्यक्ष अशोक भिवापुरकर, सहसचिव विक्रम नायुडू, टूर्नामेंट के निदेशक डॉ. सुधीर भिवापुरकर, आयोजन सचिव विजय नायुडू, सीनियर कोच संतोष चैटर्जी, स्पर्धा की पर्यवेक्षक सुप्रिया चैटर्जी की विशेष उपस्थिति रही। स्पर्धा की सफलता के लिए जय कुमार, पवन, संदीप, स्वप्निल, मोहन आदि ने परिश्रम किया।

कमेंट करें
ezPCT