comScore

जबलपुर शहर पूरी तरह बंद रहा, जागरूक जनता ने दिया पूर्ण सहयोग - पुलिस दे रही समझाइश

जबलपुर शहर पूरी तरह बंद रहा, जागरूक जनता ने दिया पूर्ण सहयोग - पुलिस दे रही समझाइश

डिजिटल डेस्क जबलपुर ।  कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए रविवार को लगाए गए जनता कफ्र्यू के चलते शहर की सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। दुकान और प्रतिष्ठान पूरी तरह बंद रहे। शहर की सड़कों पर पुलिस द्वारा लगातार गश्त की जाती रही। थाना प्रभारी समेत थानों की मोबाइल चीता पेट्रोलिंग एवं एफआरबी वाहन द्वारा थाना क्षेत्र में लगातार पेट्रोलिंग की जा रही है। जिन इलाकों पर भी थोड़ी सी भी भीड़ नजर आ रही है वहां पुलिस द्वारा अलाउंस कर लोगों को घर के भीतर जाने की हिदायत दी जा रही है। सड़कों पर निकले दो पहिया एवं चार पहिया वाहन चालकों को रोककर भी घर जाने की सलाह पुलिस द्वारा दी जा रही है। शहर के सभी प्रमुख चौक चौराहों एवं मुख्य मार्गों पर पुलिस बल तैनात किया गया है। पुलिस अधिकारियों एवं पुलिस कंट्रोल रूम द्वारा लगातार इसकी मॉनिटरिंग की जा रही है।
 जनता कफ्र्यू: घरों में रहकर भी व्यस्त रहे लोग
  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आव्हान पर सुबह 7 से रात 9 बजे तक लगे जनता कफ्र्यू का। अब हर किसी के मन मे एक ही सवाल...आखिर इन 14 घण्टों के दौरान किया क्या जाए..??? न हम किसी के घर जा सकते हैं और न ही कोई हमारे यहां आ सकता है। कोरोना महामारी से लड़ी जा रही जंग में वायरस की चेन को तोडऩे के लिए घरों में कैद रहकर आखिर कितनी देर टीवी देखें और कितनी देर बच्चों के साथ गेम खेलें.... इन सभी ऊहापोहों के बीच लोगों ने शनिवार की रात से प्लान बनाया ताकि घर मे रहकर भी खुद को व्यस्त रखा जाए और समय भी कट जाए। अधिकांश घरों में एक ही नजारा देखने मिला, साफ सफाई का। जी हां, जनता कफ्र्यू के दौरान लोगों ने अपने घर की साफ सफाई को तवज्जो दी।
 दरअसल, जनता कफ्र्यू के दौरान बाजार बंद, दुकानें बंद, न कोई दोस्त न कोई रिश्तेदार। अब घरों में कैद रहते हुए बोर होने के बजाए अधिकांश लोगों ने घरों में साफ सफाई की। सुबह भले लोग आराम से उठे, पर उन्होंने दोपहर तक बच्चों के साथ मिलकर साफ सफाई पर जोर देकर समय बिताया। आमतौर पर किचन में व्यस्त रहने वाली महिलाओं ने भी सफाई में अपना सहयोग दिया।
 गढ़ा की सड़कें पूरी तरह सुनी
शहर के अन्य इलाकों की तरह गढ़ा की सड़कें पूरी तरह सुनी रहीं।  सब्जी,फल ,परचून की दुकाने तक सब मुक्कमल बन्द का नजारा सा रहा। बच्चे भी गलियों और सड़कों में नहीं निकले। बिल्कुल अलग ही नजारा सड़कों में है।
 न घर से निकले न दोस्तों से मिले 
जनता कफ्र्यू का असर ही है कि लोग रविवार को पूरी दिन चर्या बदलकर न केवल घर मे रहे बल्कि ,घर में दोस्तों का जमघट भी नहीं लग सका। यह कोरोना से जंग में बहुत लाभ दायक सिद्ध होने वाला है। खासबात है कि इस तरह के धेर्य की जरूरत अभी ओर पडऩे वाली है।
डुमना एयरपोर्ट पर कम रहे पैसेंजर
जनता कफ्र्यू का असर आज डुमना एयरपोर्ट में भी दिखाई दिया। आमदिनों में जो फ्लाइट फुल रहती थी वह आज आधी से भी कम रही। सुबह दिल्ली से जबलपुर आने वाली फ्लाइट में यात्री संख्या काफी कम रही हैं। इसके अलावा जबलपुर से मुंबई जाने वाले पैसेंजर भी कम ही रहे हैं। हालांकि  यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए  स्पाइस जेट विमान कंपनी ने अपनी जबलपुर से दिल्ली,मुंबई,हैदराबाद और कोलकाता रुट की फ्लाइट चालू रखी हैं। वही एयर इंडिया विमान कंपनी ने दिल्ली रुट की फ्लाइट को 28 मार्च तक के लिए बंद कर दिया हैं।

कमेंट करें
QJXgA