दैनिक भास्कर हिंदी: शादी समारोह में घुसकर चुराती थी गहने और पैसे, सीसीटीवी की मदद से पकड़ाई

June 13th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शादी समारोह में मौका पाकर दूल्हा-दुल्हन सहित शादी में आने वाले लोगों के गहने और पैसे चुराने की घटनाएं भी नागपुर में काफी हो रही है। पुलिस इसी तरह की घटना को अंजाम देने वाली महिला को दबोचा है।  कभी अकेले, तो कभी अपने बच्चे के साथ अच्छे कपड़े पहनकर दुल्हन व उसके रिश्तेदारों के गहने व पर्स चोरी कर फरार हो जाने वाली महिला को पुलिस ने पकड़ लिया है। महिला को संदेह के आधार पर पुलिस परिमंडल क्रमांक 4 के उपायुक्त राजतिलक रोशन के दस्ते ने पकड़ा। महिला चोर को सीसीटीवी कैमरे के आधार पर पकड़ने में पुलिस को सफलता मिली है। महिला को उमरेड पुलिस के हवाले कर दिया गया है।

आरोपी महिला ने 27 मई 2019 को सत्यम सभागृह, उमरेड पर एक महिला की बेटी के शादी समारोह में उसकी रिश्तेदार महिला का बैग लेकर गायब हो गई थी। पीड़ित महिला ने बेटी को प्यास लगने पर बैग को नीचे रखकर उसे पानी पिलाने चली गई थी। महिला ने मौका पाकर बैग लेकर उड़ा लिया था । बैग में नकदी, चांदी के गहने और मोबाइल सहित करीब 40,000 रुपए का माल था। उस महिला ने उमरेड थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। इस महिला चोर को नागपुर पुलिस ने धरदबोचा। उसके बाद उसे उमरेड पुलिस के हवाले कर दिया गया है। 

एटीएम लगाने के नाम पर 58 हजार रुपए की चपत 

बेलतरोड़ी थानांतर्गत सेवानिवृत्त शासकीय अधिकारी के साथ तीन आरोपियों ने 58 हजार रुपए की धोखाधड़ी की। आरोपियों ने पीड़ित को एटीएम लगाने के लिए किराए की जगह के नाम पर उक्त रकम की चपत लगाई। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी आकाश अग्रवाल, श्वेता तिवारी और स्नेहा शर्मा उर्फ घोष  के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

फोन पर विश्वास हासिल किया

पुलिस के अनुसार आरोपी आकाश अग्रवाल, श्वेता तिवारी और स्नेहा शर्मा ने खुद को इंडिया कैश एटीएम कोलकाता कंपनी का अधिकारी बताकर दत्तात्रय येलुकर से संपर्क किया। आरोपी आकाश, श्वेता और स्नेहा ने इंडिया कैश बैंक का एटीएम लगाने के लिए जगह किराए से लेने का गत 27 मई 2019 को अखबार में  विज्ञापन प्रकाशित करवाया। मनीष नगर निवासी दत्तात्रय मुरलीधर येलुकर (66) ने विज्ञापन में छपे मोबाइल पर संपर्क किया।

तीनों आरोपियों ने एटीएम लगाने के लिए जगह किराए से लेने के लिए 10 लाख डिपॉजिट, हर महीने 20 हजार रुपए किराया, नौकरी व मोटरसाइकिल का लालच देकर एग्रीमेंट ई-मेल किया। इसके बाद  आरोपियों ने दत्तात्रय को कई बार फोन कर विश्वास हासिल कर लिया। आरोपियों ने एग्रीमेंट और इंश्योरेंस शुल्क के नाम पर दत्तात्रय को  58,600 रुपए अपने बैंक के खाते में एनएफईटी से डालने के लिए कहा। उसके बाद आरोपियों के खाते में 58600 रुपए उन्होंने भेज दिया। बाद में आरोपियों ने संपर्क करना बंद कर दिया, तब दत्तात्रय को ठगे जाने का एहसास हुआ। तब उन्होंने इसकी शिकायत बेलतरोड़ी थाने में की।