comScore

मंत्रियों की छुट्‌टी को लेकर कयास : दलित आदिवासी फैक्टर का असर या बात कुछ और

मंत्रियों की छुट्‌टी को लेकर कयास : दलित आदिवासी फैक्टर का असर या बात कुछ और

डिजिटल डेस्क, नागपुर। विधानसभा चुनाव के ठीक 4 माह पहले राज्य मंत्रिमंडल का तीसरा विस्तार चुनाव तैयारी की कवायद का हिस्सा ही लगता है। 13 नए मंत्री बनाए गए। 6 पुराने हटाए गए। इनमें दलित व आदिवासी कल्याण से संबंधित विभागों के मंत्री व राज्यमंत्री की छुट्‌टी किया जाना राजनीतिक चर्चा का विषय बना है। कमजोर वर्ग को न्याय देने के लिए साामाजिक न्याय व आदिवासी विकास संबंधी विभाग बनाया गया है। इन विभागों के माध्यम से विशेष योजनाएं चलायी जाती है। राजनीति में दलित व आदिवासी कार्ड चलने चलाने का दौर अक्सर चलते रहता है। ऐसे में सामाजिक न्याय व आदिवासी विकास विभाग की जिम्मेदारी राजनीतिक लाभ नुकसान का गणित जोड़कर ही दी जाती है। इन विभागों के नेतृत्व को एकाएक बदलना राजनीतिक जोखिम भी माना जाता है। ऐसे में चुनाव के पहले दोनों  विभाग के मंत्रियों को हटा देने को लेकर कहा जा रहा है कि भाजपा व मुख्यमंत्री देेवेंद्र फडणवीस ने बड़ी रिस्क ली है।

कमेंट करें
S0Uyv