दैनिक भास्कर हिंदी: स्वास्थ्य क्षेत्र में बेहतर काम करनेवाली लीना प्रभु सम्मानित

December 20th, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई। मशहूर लेखिका और हेल्थ एडवाइजर लीना प्रभू को स्वास्थ्य के क्षेत्र में बेहतरीन योगदान के लिए दुबई में सम्मानित किया गया। इंटरनेशनल फोरम ऑफ एडवांसमेंट्स इन हेल्थकेयर (आईएफएएच) ने लीना को स्वास्थ्य के क्षेत्र में अच्छा काम करने वाले दुनिया के 100 शीर्षस्थ लोगों में चुना और उन्हें बुधवार को सम्मानित किया। लीना ने आधुनिक एमईएस-क्यू तकनीक विकसित की है जो लोगों को बेहतर और सफल जीवन जीने में लोगों की मदद करता है।

लीना ने माई पाथ टू प्राजना नाम की किताब लिखी है जो एमेजॉन पर सबसे ज्यादा बिकने वाली किताब है। इसका विमोचन पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने किया था। देश के 10 श्रेष्ठ वक्ताओं में शामिल लीना को इंफोसिस के संस्थापक नंदन नीलकेणी के साथ पद्मभूषण पुरस्कारसे भी नवाजा जा चुका है। लीना लोगों को जिंदगी के आध्यात्मिक और भावनात्मक पहलुओं को बेहतर ढंग से समझने और समस्याओं से निपटने में मदद करतीं हैं। उन्होंने ने साल 1991 में अमेरिका के बोस्टन से काउंसलिंग की मास्टर्स डिग्री हासिल करने के बाद अपनी प्रैक्टिस मुंबई में शुरू की थी।

धीरे-धीरे लोगों के साथ अपने अनुभव के आधार ने एक तकनीक विकसित की जिससे लोगों को अपनी परेशानियों से निपटने में मदद मिली। बाद में उन्होंने अपने इस अनुभव को किताब की शक्ल दी। लीना के मुताबिक उनकी एमईएस क्यू तकनीक का इस्तेमाल कर लोग तनाव, अवसाद से दूर रहकर खुशहाल जिंदगी बिता रहे हैं। यह तकनीक अंतर्राष्ट्रीय जूरी को भी बेहद पसंद आई जिसके चलते दुबई में आयोजित हेल्थ कांफ्रेंस में उन्हें सम्मानित किया गया। लीना अब अपनी तकनीक दुनियाभर के दूसरे स्वास्थ्य के क्षेत्र से जुड़े पेशेवरों को भी सिखाएंगी।