दैनिक भास्कर हिंदी:  गोहपारू में तेंदुए का आतंक, महिला को निशााना बनाया - मौत

November 9th, 2019

डिजिटल डेस्क शहडोल । यहां वन्य प्राणी के हमले में एक महिला की मौत हो गई। वन विभाग द्वारा हमलावर प्राणी की पहचान तेंदुआ के रूप में की है। यह घटना गोहपारू रेंज के ग्राम धनगवां के कक्ष क्रमांक आरएफ 740 सर्किल देवरी में हुई। मंगलवार को केशवाही रेंज के भुमकार में तेंदुआ ने सात वर्षीय बच्ची को मारकर निवाला बनाया था।
 ग्राम धनगवां निवासी राजेश केवट की पत्नी गीता केवट उम्र 29  वर्ष के ऊपर गुरुवार की शाम करीब 7.30 बजे उस समय हमला हुआ जब वह खेत की रखवाली करने गई थी। काफी देर तक घर नहीं लौटने पर पति खेत गया तो देखा कि पत्नी मृत अवस्था में पड़ी हुई है। गले सहित पूरे शरीर में तेज नाखून व दांतों के निशान थे। आसपास जिस प्राणी के पगमार्क मिले वह तेंदुआ का बताया गया। सूचना पर वन विभाग का अमला मौके पर पहुंचा। शव को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बुढ़ार पहुंचाया गया। रेंजर गोहपारू पुष्पा सिंह ने बताया कि तत्कालिक मदद के रूप में 10 हजार रुपये प्रदान किए गए हैं। चार लाख रुपये की राशि परिजनों को देने की प्रक्रिया कराई जा रही है।
हादसों के बाद दिख रही सतर्कता
वन्य प्राणियों द्वारा एक के बाद एक हो रहे हमलों को लेकर ग्रामीणों में दहशत का माहौल है। वन विभाग का अमला जानवरों की मूवमेंट से अनभिज्ञ रहता है, जिससे लोगों को जानकारी नहीं हो पाती। लोगों का कहना है वन विभाग मुस्तैदी से काम नहीं कर रहा, जिसका नतीजा लोग निवाला बन रहे हैं। उधर केशवाही में बच्ची को मौत के घाट उतारने वाले तेंदुआ को पकडऩे में विभाग को तीसरे दिन भी सफलता नहीं मिल पाई है। ब्यौहारी वन परिक्षेत्र में भी हाथियों का डेरा है। ग्रामीण क्षेत्रो में दहशत है। कई घर गिरा दिए तो कई एकड़ किसानों की धान की फसल को नुकसान पहुचा चुके है।
इनका कहना है
 खेत गई महिला के ऊपर तेंदुआ ने अटैक किया था, जिससे उसकी मौत हुई। लोगों को समझाइश दी जा रही है। सुरक्षा के इंतजाम किए जा रहे हैं।
महेंद्र प्रताप सिंह, डीएफओ साउर्थ