comScore

ऑनलाइन हुई 7 हजार मजदूरों की लिस्ट कंपनियाँ योग्यतानुसार ले सकेंगी काम

ऑनलाइन हुई 7 हजार मजदूरों की लिस्ट कंपनियाँ योग्यतानुसार ले सकेंगी काम

डिजिटल डेस्क जबलपुर । कोरोना वायरस के चलते हुए लॉकडाउन में 7 हजार से ज्यादा प्रवासी मजदूर जिले में आये हैं, अब इन मजदूरों के सामने ऐसा संकट न आये कि रोजगार के लिये उन्हें परेशान होना पड़े। इसके लिये रोजगार सेतु पोर्टल बनाया गया और इसमें सर्वे करने के बाद मजदूरों की योग्यता के अनुसार लिस्ट तैयार की गई है, जिसे ऑनलाइन भी कर दिया गया है। इस पोर्टल पर सरकारी विभाग के साथ ही निजी उद्योगों के नियोक्ताओं की भी सूची है, जिससे वे अपने काम के अनुसार मजदूरों को रोजगार दे सकते हैं। 
जिले में लॉकडाउन के दौरान दूसरे प्रदेशों से 7176 से ज्यादा मजदूर सर्वे में सामने आये हैं,   जिनमें सबसे ज्यादा नगर निगम सीमा में 2373 मजूदरों के पंजीयन हुए हैं। सबसे कम मजदूरों की संख्या जनपद पंचायत जबलपुर ग्रामीण में है। मजदूरों को रोजगार से जोडऩे एनआईसी ने जो पोर्टल तैयार किया है उसमें सरकारी विभाग जहाँ मजदूरों की जरूरत होती है उनमें पीएचई, पीडब्ल्यूडी, राजस्व विभाग और डब्ल्यूआरडी आदि विभाग शामिल हैं, जहाँ कुशल और अकुशल श्रमिकों को काम िदया जायेगा। 
ये आए सामने
पोर्टल पर अभी तक 23 नियोक्ता सामने आये हैं जिन्होंने पंजीयन कराए हैं। इनमें 2 बड़ी इंडस्ट्री वाले हैं जबकि कुछ सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों से जुड़े हैं। 8 ठेकेदारी का काम करने वाले हैं जिन्हें मजदूरों की आवश्यकता होती है। ये सभी लोग अपने यहाँ काम के अनुसार प्रवासी मजदूरों को रोजगार देंगे। 
इनका कहना है
पोर्टल में नियोक्ता के साथ ही मजदूरों की भी पूरी जानकारी है, जिससे जरूरत के अनुसार उन्हें रोजगार मुहैया कराया जा सकता है। मजदूर कौन सी योग्यता रखते हैं और कहाँ काम करते थे, ये सभी  जानकारी इसमें अपलोड की गई है। 
-आशीष शुक्ला तकनीकी निदेशक एनआईसी
 

कमेंट करें
iT1X4