दैनिक भास्कर हिंदी: देश व प्रदेश के बाहर से छतरपुर जिले में आए लोगों का किया जाएगा सूचीकरण

March 25th, 2020

डिजिटल डेस्क पन्ना। कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने एक आपातकालीन बैठक आयोजित कर कोरोना वायरस रोकथाम के लिए अब तक जिले में की गयी कार्यवाही एवं आगामी दिनों में की जाने वाली कार्यवाही के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिले में 25 फ रवरी से लेकर अब तक देश व प्रदेश के बाहर से जिले मेें आए लोगों की पहचान कर उनकी स्क्रीनिंग करना अतिआवश्यक है। जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में यह कार्य प्रभावी ढंग से प्रारंभ है। जिले के नगरीय क्षेत्रों में इस कार्य को प्राथमिकता के साथ दो दिवस के अन्दर पूर्ण किया जाना है। इस कार्य के लिए मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत बालागुरू के को नोडल अधिकारी बनाया गया है। उनके द्वारा इस कार्य के लिए दल गठित किए गए हैं। गठित किए गए दल प्रत्येक नगरीय निकाय में जितने वार्ड हैं उस निकाय के लिए उतने ही दल गठित किए गए हैं। इन दलों में बीएलओ, आंगनवाडी कार्यकर्ता, शिक्षक, आशा, नगरीय निकाय के वार्ड प्रभारियों को शामिल किया गया है। यह दल अपने-अपने दायित्व वाले वार्डो में ऐसे व्यक्तियों की सूची तैयार करेंगे जो 25 फ रवरी से अब तक देश या प्रदेश से जिले मेें आए हैं। इन लोगों द्वारा ऐसे व्यक्तियों की सूची तैयार करने के साथ-साथ जिले के उन व्यक्तियों की सूची भी तैयार की जाएगी जिन्होंने इस अवधि में जिले से बाहर की यात्राएं की हैं। जानकारी में व्यक्ति किस स्थान से यात्रा कर किस दिनांक को जिले में आया, उनका पूर्ण पता, मोबाइल नम्बर, संबंधित व्यक्ति को सर्दी, बुखार, खांसी, सांस फ ूलने आदि की जानकारी पंजीबद्ध की जाएगी। इसके अलावा यह दल अपने-अपने दायित्व क्षेत्र के उन लोगों की जानकारी भी तैयार करेंगे जिन व्यक्तियों द्वारा 25 फ रवरी से अब तक की अवधि में जिले से बाहर आना जाना नही किया है लेकिन उन्हें सर्दी, खांसी, बुखार आदि की समस्या है। ऐसे व्यक्तियों का पंजीकरण कर उन्हें आवश्यक उपचार उनके घर पर ही उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गयी है। निर्धारित अवधि में देश या राज्य से बाहर से आने वाले लोगों की जानकारी चलित चिकित्सा दल को दी जाएगी। इन सभी व्यक्तियों की जानकारी गूगल सीट पर दर्ज की जाएगी। यह दल संबंधित व्यक्ति के घर पर पहुंचकर आवश्यक जांच एवं उपचार उपलब्ध कराएगा। कोई भी व्यक्ति चिकित्सालय तब तक नही आएगा जब तक की जांच उपरांत उसे चिकित्सालय चिकित्सा दल द्वारा भेजा नही जाता। बैठक में निर्देश दिए गए हैं कि स्वसहायता समूहों द्वारा तैयार किए जा रहे सेनेटाइजर एवं मास्क प्रथम चरण में उन अधिकारियों/कर्मचारियों को दिए जाएंगे जो वर्तमान में शासकीय दायित्वों के निर्वहन में लगाए गए हैं। इसके उपरांत इन दोनों सामग्रियों का शासन द्वारा निर्धारित दर पर विक्रय किया जाएगा। सम्पन्न हुई बैठक में अपर कलेक्टर जे.पी. धुर्वे, एसडीएम शेर सिंह मीना, डिप्टी कलेक्टर कु. रचना शर्मा, अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत अशोक चतुर्वेदी, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास उदल सिंह, परियोजना अधिकारी शहरी विकास अभिकरण ओ.पी. दुबे, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एल.के. तिवारी, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत पन्ना श्रीमती तपस्या जैन, तहसीलदार पन्ना दीपा चतुर्वेदी, एपीओ संजय सिंह के साथ संबंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे। 
 

खबरें और भी हैं...