हैरत में पड़ गई पुलिस, जीपीएस से बचने चोरी की गाड़ी का इंजन बदल देता था गिरोह

Looter Gang were change engine of trailer after theft to avoid GPS
हैरत में पड़ गई पुलिस, जीपीएस से बचने चोरी की गाड़ी का इंजन बदल देता था गिरोह
हैरत में पड़ गई पुलिस, जीपीएस से बचने चोरी की गाड़ी का इंजन बदल देता था गिरोह

डिजिटल डेस्क, मुंबई। गाड़ियों की चोरी से जुड़े एक गिरोह के आरोपियों ने गिरफ्तारी के बाद कुछ ऐसा खुलासा किया कि मुंबई पुलिस भी हैरान रह गई। दरअसल आरोपी चोरी की गाड़ियों का इस्तेमाल सरकारी कंपनी का करोड़ों रुपए का कॉपर वायर और दूसरे सामान लूटने के लिए इस्तेमाल करते थे। यही नहीं शातिर आरोपी चोरी किए जाने वाले ट्रेलर में लगे जीपीएस के जरिए पकड़े जाने से बचने के लिए चोरी के बाद गाड़ी का इंजन ही बदल देते थे। आरोपियों के पास से पुलिस ने लूटा गया करीब दो करोड़ रूपए का माल बरामद कर लिया है।  डीसीपी दिलीप सावंत ने बताया कि गाड़ियों की चोरी के मामले की छानबीन के दौरान गिरोह का भांडाफोड़ हुआ। मामले के मुख्य आरोपी वसीम अहमद शेख को प्रापर्टी सेल के अधिकारियों ने जाल बिछाकर गिरफ्तार किया। पूछताछ में पता चला कि शेख ने मुंबई से जिस गाड़ी की चोरी की थी उसका इस्तेमाल करते हुए सरकारी कंपनी का 1 करोड़ 81 लाख रुपए का कॉपर वायर लूटा गया था। सावंत ने बताया कि आरोपियों ने चोरी की गाड़ी लेकर कंपनी से कॉपर भरकर निकले ट्रेलर का पीछा किया और रास्ते में ट्रेलर रोककर ड्राइवर और क्लीनर से मारपीट की और उस पर कब्जा कर लिया।

 कॉपर वायर लूटने के लिए करते थे चोरी के वाहनों का इस्तेमाल 

आरोपियों ने गुजरात की सीमा तक ड्राइवर क्लीनर को बंधक बनाए रखा। बाद में उन्हें छोड़ दिया। आधुनिक ट्रेलर में उसकी लोकेशन जानने के लिए जीपीएस सिस्टम लगा होता है। लेकिन आरोपियों ने उसकी भी काट खोज ली थी। सीनियर इंस्पेक्टर सुनील बाजारे ने बताया कि आरोपियों ने पहले ही इंजन खरीद रखा था और पुराना इंजन निकालकर उसकी जगह नया इंजन लगा दिया गया। इसके अलावा वारदात के दौरान आरोपियों ने 12 मोबाइल फोन और सिमकार्ड का इस्तेमाल किया। पकड़े जाने से बचने के लिए वे थोड़ी दूर बाद मोबाइल और सिम तोड़कर फेंक देते थे। आरोपी बातचीत के लिए भी कोडभाषा का इस्तेमाल करते थे। ट्रेलर लूट के मामले में आरोपियों के खिलाफ लूट का मामला दर्ज था लेकिन आरोपियों की चालाकी के चलते पुलिस को सबूत नहीं मिल रहे थे। लेकिन लूट के लिए चोरी की गाड़ी इस्तेमाल करने के चलते आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ गए। मामले में मोहसिन बलोच, सरफराज खान और अफतेज खान नाम के तीन और आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने गुजरात के सुरेंद्र नगर में स्थित औद्योगिक क्षेत्र की एक कंपनी से लूटा गया कॉपर बरामद कर लिया है। आरोपियों से चोरी की नौ गाड़ियां भी बरामद की गई है। पुलिस को शक है कि आरोपियों ने लूटपाट की कई वारदातों को अंजाम दिया है।   

Created On :   11 Sep 2018 3:19 PM GMT

और पढ़ेंकम पढ़ें
Next Story