दैनिक भास्कर हिंदी: विधानसभा : करकरे के वेश में पहुंचे एनसीपी विधायक, पोस्टर पर लिखा था “देश के लिए हुआ शहीद”

June 26th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। एनसीपी विधायक प्रकाश गजभिये ने अनोखे अंदाज में प्रदर्शन किया। गजभिये महाराष्ट्र विधानभवन में शहीद आईपीएस हेमंत करकरे के वेश में पहुचे। उनके हाथ में पोस्टर था, उस पोस्टर पर लिखा था कि प्रज्ञा के श्राप से मौत हुई है, यह अंधश्रद्धा है, मैं तो देश के लिए शहीद हुआ था। यानी करकरे किसी के श्राप से नहीं बल्कि वे देश के लिए शहीद हुए थे। इस घटना की खबर जैसे ही पुलिस को लगी गजभिये को तुरंत बाहर निकाल दिया गया। आपको बतादें मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने मुंबई के आतंकी हमले में शहीद हुए पुलिस अधिकारी हेमंत करकरे पर यातना देने का आरोप लगाया था, हालांकि बाद में उन्होंने माफ़ी भी मांग ली थी। 

इसके पहले 8 पूर्व डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस (DGP) भी प्रज्ञा के बयान की निंदा कर चुके थे। हालांकि विरोध होने के बाद साध्वी ने बयान वापस ले लिया था। विरोध करने वालों में असम और बीएसएफ के डीजीपी (रिटा.) प्रकाश सिंह और पंजाब के रिटायर्ड डीजीपी जूलियो रिबेरो भी शामिल थे। अधिकारियों ने सामूहिक बयान जारी करते हुए कहा कि हेमंत करकरे ने महाराष्ट्र एटीएस में वापस जाने की इच्छा न जताई होती तो वो आज जिंदा होते, उन्होंने आतंकियों की जांच की जिम्मेदारी ली, ताकि बाकि लोग चैन से रह सकें।

बयान से व्यथित करकरे के पूर्व सहयोगी सेवानिवृत्त सहायक पुलिस आयुक्त रियाजुद्दीन देशमुख भोपाल सीट से निर्दलीय के रूप में पर्चा भरकर साध्वी के खिलाफ चुनाव मैदान में उतरे थे। एटीएस प्रमुख शहीद करकरे के मातहत अकोला में सब इंस्पेक्टर रहे रियाज उन्हें पिता समान मानते थे। रियाज बतौर एसीपी अमरावती से रिटायर हुए हैं। हालांकि इस बार विधानभवन में शहीद करकरे के लुक में नजर आए गजभिये ने कहीं न कहीं फिर इस मसले को गर्मा दिया है।  

 

खबरें और भी हैं...