दैनिक भास्कर हिंदी: राष्ट्रपति शासन की तरफ बढ़ रहा महाराष्ट्र, शिवराज पाटिल ने सुझाया ये नया फार्मूला

November 8th, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई। वरिष्ठ कांग्रेस नेता शिवराज पाटिल महाराष्ट्र में नई सरकार बनाने के लिए नया फार्मूला पेश किया है। उन्होंने कहा कि दूसरे दल कांग्रेस-राकांपा को सरकार बनाने के लिए समर्थन दें। उनका इशारा शिवसेना की तरफ था। पूर्व लोकसभा अध्यक्ष पाटिल ने कहा कि हालांकि कांग्रेस और राकांपा शायद ऐसी व्यवस्था पर राजी नहीं होंगे। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में मौजूदा स्थिति से निपटने का केवल एक यही तरीका है। अन्य लोगों (दलों) को कांग्रेस तथा राकांपा को बताना चाहिए कि वे सरकार गठन में उनका समर्थन करेंगे। उन्होंने कहा कि इसके बाद कांग्रेस और राकांपा सरकार बना सकती है। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने शिवसेना का नाम नहीं लिया। हालांकि इसका मतलब दूसरे सबसे बड़े दल शिवसेना से हो सकता है। 

राष्ट्रपति शासन की तरफ बढ़ रहा महाराष्ट्र

वरिष्ठ राकांपा नेता छगन भुजबल ने कहा कि महाराष्ट्र राष्ट्रपति शासन की ओर बढ़ रहा है। भुजबल ने एक कहा-मुझे लगता है कि हम राष्ट्रपति शासन की ओर बढ़ रहे हैं। राष्ट्रपति शासन लागू होने के बाद मुझे लगता है कि एक महीने में चीजें सामान्य हो जाएंगी। सरकार बनाने के लिए किसी को तो पीछे हटना पड़ेगा।’ पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा कि राकांपा ‘‘इंतजार करो और देखो’’ का रुख अपनाएगी। भुजबल ने यह भी आरोप लगाया कि कांग्रेस के इगतपुरी से विधायक हीरामन खोसकर से किसी ने संपर्क किया और दल बदलने के लिए प्रलोभन दिया। उन्होंने कहा, ‘‘खोसकर ने खुद मुझे यह बताया है। यह सही नहीं है, यह संविधान के अनुरूप नहीं है। हालांकि बाद में खोसकर ने इस तरह की बात से इंकार किया है। 
 

खबरें और भी हैं...