दैनिक भास्कर हिंदी: बस हड़ताल : दिवाली से पहले थमा महाराष्ट्र, यात्रियों की हो रही फजीहत

July 10th, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महाराष्ट्र सड़क परिवहन महामंडल (एसटी) कर्मचारी आज से हड़ताल पर चले गए हैं। एसटी कर्मचारियों की हड़ताल पर जाने की चेतावनी दिए जाने के बाद सोमवार को मुख्यमंत्री के आवास पर परिवहन मंत्री दिवाकर रावते की मौजूदगी में हुई बैठक विफल रही। आधी रात से हड़ताल पर गए कर्मचारी वेतनवृद्धि की मांग कर रहे हैं।हड़ताल की वजह से बसों के जरिए यात्रा करने वाले मुसाफिरों को भारी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। बस स्टैंडों पर लगी भीड़ इसकी गवाही दे रही है। 

प्रदेश भर में राज्य परिवहन की 17 हजार बसें

राज्य परिवहन की महाराष्ट्र में 17 हजार बसें चलती हैं। एक तरह से ये लोगों की जीवन का अहम हिस्सा हैं, क्योंकि इन्हीं बसों के जरिए वो आना-जाना करते हैं। वेतन वृद्धि की मांग को लेकर 1 लाख कर्मचारी हड़ताल पर हैं। 

राज्य सरकार के सामने आर्थिक संकट

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार एसटी के कर्मचारियों के वेतन बढ़ोतरी को लेकर सकारात्मक है। राज्य सरकार पर आर्थिक संकट होने के कारण सातवें वेतन आयोग की मांगों को तत्काल मंजूर नहीं किया जा सकता। कर्मचारियों के वेतन बढ़ोतरी के लिए प्रदेश सरकार के परिवहन विभाग के प्रधान सचिव मनोज सौनिक की अध्यक्षता में समिति गठित की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि मेरी अपील है कि एसटी कर्मचारी हड़ताल पर न जाएं। 

मुख्यमंत्री की सलाह

एसटी कर्मचारी हड़ताल वापस लेने को तैयार नहीं हुए। मुख्यमंत्री ने बताया कि समिति में एसटी महामंडल के वरिष्ठ अधिकारी सहित विभिन्न कर्मचारी संगठन के प्रतिनिधियों को शामिल किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बात का ख्याल रखना जरूरी है कि एसटी महामंडल और घाटे में न चला जाए। इस बात ख्याल रखते हुए समिति वेतनवृद्धि के संबंध में रिपोर्ट दे। सरकार उसको निश्चित रूप से स्वीकार करेगी।

सरकार ने हड़ताल वापस लेने के लिए कहा

मुख्यमंत्री ने कहा कि एसटी महामंडल की आय में वृद्धि होना जरूरी है। इसके लिए महामंडल को विभिन्न नए स्त्रोतों को विकसित करने की जरूरत है। इस संबंध में कर्मचारी संगठनों को भी सुझाव देना चाहिए। सरकार की तरफ से इसको निश्चित मंजूरी दी जाएगी। परिवहन मंत्री रावते ने कहा कि दीपावली के मौके पर यात्रियों को परेशानी न हो। इस बात को ध्यान में रखते हुए कर्मचारी हड़ताल पर न जाएं। रावते ने कहा कि मेरी अपील है कि एसटी कर्मचारी संगठन हड़ताल वापस ले लें।