comScore

नागपुर की मालविका ने नेपाल में दिखाया दम, एक सप्ताह में लगातार दूसरा अंतरराष्ट्रीय खिताब

नागपुर की मालविका ने नेपाल में दिखाया दम, एक सप्ताह में लगातार दूसरा अंतरराष्ट्रीय खिताब

डिजिटल डेस्क, नागपुर। संतरानगरी की स्टार शटलर मालविका बन्सोड़ ने एक और धमाका करते हुए नेपाल अंतरराष्ट्रीय सीरीज बैडमिंटन टूर्नामेंट में महिला एकल का खिताब भी जीत लिया। अंतरराष्ट्रीय पदार्पण में ही मालविका का यह एक सप्ताह में लगातार दूसरा अंतरराष्ट्रीय खिताब है। पिछले रविवार को उसने माले में मालदिव्ज अंतरराष्ट्रीय फ्यूचर टूर्नामेंट जीता था। रविवार को त्रिपुरेश्वर में खेले गए खिताबी मुकाबले में मालविका ने राष्ट्रीय कोच पुलेला गोपीचंद की बेटी गायत्री गोपीचंद को 42 मिनट में 21-14, 21-18 से शिकस्त दी। गत दो अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटों में मालविका ने अब तक केवल एक गेम गंवाया है। शुक्रवार को नेपाल में वह जापान की चिका शिगेयामा के खिलाफ क्वार्टर फाइनल में एक गेम हार गई थी। भारत की दो उदीयमान बैडमिंटन खिलाड़ियों मालविका तथा गायत्री के बीच मुकाबला शानदार रहा। 18 वर्षीय मालविका ने अपनी 16 वर्षीय प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ पहला गेम आसानी से 21-14 से जीत लिया। दूसरे गेम में भी वह ब्रेक के समय 11-7 से आगे चल रही थी लेकिन इसके बाद विश्व की 325वें नंबर की खिलाड़ी गायत्री ने जोरदार वापसी की। पहले उसने स्कोर बराबर किया, जिससे मालविका पर दबाव बढ़ गया लेकिन विश्व की 452वें नंबर की खिलाड़ी मालविका ने अपने अनुभव के आधार पर गायत्री को 21-18 से मात देकर खिताब पर कब्जा भी कर लिया।

जीत का श्रेय कोच को

मालविका ने अपनी जीत का श्रेय मुख्य राष्ट्रीय बैडमिंटन कोच संजय मिश्र को दिया। मालविका ने कहा,‘अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटों में पदार्पण के साथ ही लगातार दो खिताब जीतकर मैं काफी खुश हूं। मैं अपने कोच की भी शुक्रगुजार हूं जिन्होंने मेरा मार्गदर्शन किया। यह काफी लंबा टूर रहा है लेकिन मालदीव में चैंपियन बनने के बाद मैंने नेपाल के टूर्नामेंट पर अपना सारा ध्यान दिया था।’

कमेंट करें
FlAOJ