दैनिक भास्कर हिंदी: पटना-एर्नाकुलम व तिरूअनंतपुरम एक्सप्रेस से केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए भेजी गई दवाईयां

August 22nd, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। नागपुर से एर्नाकुलम जाने वाली ट्रेन नंबर 16360 पटना-एर्नाकुलम व 22647 तिरूअनंतपुरम एसएफ एक्सप्रेस से केरल के बाढ़ पीड़ितों के लिए मदद भेजी गई है। ट्रेन नें एक एनजीओ के माध्यम से 213 किलो दवाईयां भेजी गई। जिसमें हैजा, डायरिया, पेट दर्द, उल्टी आदि की मेडीसीन है। यह गाड़ियां नि:शुल्क रूप से इन दवाईयों को एर्नाकुलम तक पहुंचाने वाली है। 21 अगस्त को भारतीय रेलवे ने किसी भी क्षेत्र से केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए मदद नि: शुल्क भेजने की अपील की थी। जिसके बाद से नागपुर मंडल अंतर्गत 22 अगस्त उपरोक्त दवाईयां भेजने की बुकिंग की गई थी।

उल्लेखनीय है कि हाल ही में केरल में  बाढ़ से भारी तबाही आई है। जिससे सैकड़ों लोगों को अपनी जांन गंवानी पड़ी है। वहीं हजारों लोगों को अपना घर छोड़ सार्वजनिक जगहों पर जीवनयापन करना पड़ रहा है। खाना, कपड़ों के लिए तरसते लोगों की हर तरह से मदद करने का प्रयास जारी है। देशभर की संस्थाएं पीड़ितों तक मदद भेजने की चाह रख रही है, लेकिन वहां तक मदद जाए कैसे यह सवाल हर किसी के सामने उपस्थित हो रहा है। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए भारतीय रेलवे ने पहल की है। रेल मंत्रालय द्वारा नि:शुल्‍क सुविधा उपलब्‍ध कराने के निर्देश जारी किए है।

ऐसे में मध्य रेलवे नागपुर मंडल के नागपुर, चंद्रपुर, बल्‍लारशाह, वर्धा, सेवाग्राम, पुलगांव, धामनगांव, बैतूल, आमला, पांढुर्णा, परासिया आदि जगहों के कोई भी एैसे एनजीओ/स्‍वंय सेवी संस्थाएं / अन्‍य संस्थान जो बाढ़ पीड़ितों के लिए राहत सामग्री, खाद्य सामग्री भेजना चाहते हैं, उन्हें रेलवे सेवा नि:शुल्‍क उपलब्‍ध कराई जाएगी। ऐसे में शहर की एक निजी इच्छुक व्यक्ति / सामाजिक संस्था नजदीक के रेलवे पार्सल कार्यालय से संपर्क करने की अपील डीआरएम सोमेश कुमार ने की थी। बुधवार को एक संस्थान ने बाढ़ पीड़ितों के लिए दवाईयां बुक कराई है। कुल 213 किलो दवाईयों में पेट दर्द से लेकर संक्रमण से होनेवाली सारी दवाईयों का सामावेश है। जिसे नागपुर विभाग अंतर्गत उक्त ट्रेनों के माध्यम से भेजा जा रहा है। ऐसे में खाने-पीने की चीजों के साथ बाढ़पीड़ितों के लिए दवाईयां भी एक राहत साबित होगी। आनेवाले समय में स्टेशन से और भी मदद सामग्री विभिन्न संस्थाओं के माध्यम से भेजने की उम्मीद है।

 रेलवे भेजेगी 14 वैगन पेयजल 
मध्य रेलवे ने निर्णय लिया है, कि अगस्त माह में कर्मचारी व अधिकारियों के वेतन से कुछ राशि कंट्रिब्यूशन कर बाढ़ पीड़ितों के लिए प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष में जमा की जाने वाली है। मध्य रेलवे में करीब 90 हजार कर्मचारी व अधिकारी है। इसमें नागपुर मंडल के 17 हजार कर्मचारियों का भी सामावेश रहेगा। इसके अलावा रेलवे केरल के लिए 14 वैगन पेयजल व 27 हजार राहत सामग्री भी भेजने की तैयारी कर रहा है।

खबरें और भी हैं...