comScore

समय-सीमा की बैठक सम्पन्न कोरोना संक्रमण से बचावं हेतु अतिरिक्त सतर्कता की आवश्यकता-कलेक्टर

समय-सीमा की बैठक सम्पन्न कोरोना संक्रमण से बचावं हेतु अतिरिक्त सतर्कता की आवश्यकता-कलेक्टर

डिजिटल डेस्क शहडोल | शहडोल कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट डॉ. सतेन्द्र सिंह द्वारा कलेक्टर सभागार में समय-सीमा की बैठक आयोजित की गई। आयोजित बैठक में अपर कलेक्टर श्री अर्पित वर्मा, संयुक्त कलेक्टर श्री रमेश सिंह, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. राजेश पाण्डेय, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास श्री आर. के. श्रोती, उप संचालक कृशि श्री जे.एस. पेन्द्राम, उपायुक्त सहकारिता श्रीमती शकुन्तला प्रधान, उप संचालक पशु चिकित्सा डॉ. जितेन्द्र सिंह, डीपीसी डॉ. मदन त्रिपाठी, एलडीएम श्री एस सी माझी, खादय आपूर्ति नियंत्रक श्री कमलेश टाण्डेकर, सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहें। बैठक में कलेक्टर द्वारा कहा गया कि कोरोना संक्रमण काल में सभी को सावधानी के साथ अतिरिक्त सतर्कता की आवश्यकता है सभी कार्यालय प्रमुख अपने कार्यालयों को नगरपालिका अधिकारी से मिलकर सेनेटाइज कराना सुनिश्चित करे साथ ही बाहर से आए हर व्यक्ति के बारे में सभी जानकारी लेकर स्वयं कोरोना से बचें और अपने कार्यालय के कर्मचारियों को भी कोरोना से बचाऍ। हर कार्यालय में सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क आदि का उपयोग किया जाए तथा कार्यालय में सेनेटाइजर, हाथ धोने के साबुन टिकियां भी कार्यालय प्रमुख कराना सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने गौशाला निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए उप संचालक पशु चिकित्सालय डॉ. जितेन्द्र सिंह को निर्देशित किया कि नवीन गौशाला निर्माण हेतु भूमि का चयन भी संबंधी क्षेत्र के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व के साथ मिलकर करना सुनिश्चित करे। कलेक्टर ने सभी कार्यालय प्रमुखो को निर्देशित किया हैकि अपने संस्थाओं की भूमि का सीमाकंन , नामातंरण एवं खसरे में दर्ज कराना सुनिश्चित करे। कलेक्टर ने खाद,बीज आदि की उपलब्धता एवं आवश्यकता तथा भण्डारण की स्थिति की समीक्षा की। बैठक में कलेक्टर ने खरीफ फसल उपार्जन एवं बोनी की स्थिति के बारे में भी प्रगति लाने के निर्देश उप संचालक कृशि श्री जी.एस. पेन्द्राम को दिए। कलेक्टर ने लोक सेवा गारंटी अधिनियम के अन्तर्गत प्रदत्त सेवाओं, जाति प्रमाण पत्र विशेष अभियान, सीएम हेल्पलाईन, एक हजार दिनों से अधिक लंबित प्रकरणों की समीक्षा की। कलेक्टर ने संयुक्त कलेक्टर श्री रमेश सिंह को निर्देशित किया कि एक हजार दिवसीय लंबित प्रकरणों के निराकरण के लिए संबंधित विभाग के अधिकारियेां की बैठक लेकर निराकरण कराना सुनिश्चित करें। उन्होने बैठक में निर्देशित किया कि सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व अपने अनुभाग क्षेत्र के कोर कमेटी अधिकारियों के साथ टी.एल. के पूर्व सभी टी.एल. प्रकरणों का समीक्षा करना सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने नायब तहसीलदार ब्यौहारी को सीमाकंन कार्य में लापरवाही एवं उदासीनता तथा एवं सहायक संचालक पिछडा एवं अल्पसंख्यक विभाग को समय सीमा की बैठक में उपस्थित न होने एवं लंबित प्रकरणों के निराकरण मंे खराब प्रदर्षन के कारण बताओं नोटिस देने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने 125 दिवसीय प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना की समीक्षा के दौरान पीओ मनरेगा, अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत, ईआरईएस को निर्देशित किया कि टीम बनाकर 125 दिवसीय गरीब कल्याण योजना में गति प्रदान करने हेतु शासन द्वारा चिन्हित गतिविधियों में प्रगति लाना सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने श्रम सिद्वि योजना, जन कल्याण संबंल योजना, रोजगार सेतु एप की समीक्षा की। उन्होने निर्देशित किया कि सार्थक एप में शत प्रतिशत पंजीयन कराना सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने बैठक में निर्देश दिए कि सामाजिक स्वच्छता मिशन के अन्तर्गत हार्ड बाजारों, ऑगनवाड़ी केन्द्रो, मेडिकल कॉलेज के पास , इंजीनियरिग कॉलेज, अस्पतालों के पास, सामुदायिक स्वास्थ्य भवनों के पास शौचालय बनवाना सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने सभी अधिकारिेयो के निर्देशित कि 125 दिवसीय प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अन्तर्गत सभी संबंधित अधिकारी प्रतिदिन पत्रक का अवलोकन करंे और जानकारी अपडेट कराऍ। अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने बताया कि अभी तक जिले में 50 प्रकरण के प्रस्ताव प्राप्त हुए है जिनमें कार्यवाही जारी है। कलेक्टर ने मुख्य अतिरिक्त कार्यपालन अधिकारी श्री पटेल को निर्देशित किया कि प्रवासी मजदूरों जो कि पुनः अपने कार्य में वापस चले गए है उनकी भी जानकारी लेना सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने एमपीजी के अधिकारी को निर्देशित किया कि विद्यालयों में 455 कलेक्षन की कार्यवाही शीघ्र कराना सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. राजेश पाण्डेय से जिला अस्पताल की डालसिंस मशीन जो कि बिगड़ गई थीं उसके बारे में जानकारी प्राप्त|

कमेंट करें
Nw2DX