दैनिक भास्कर हिंदी: मौसम विभाग ने जारी किया आरेंज अलर्ट, नागपुर सहित विदर्भ में जारी बारिश

July 21st, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महानगर में शुरू हुआ बरसात का सिलसिला अगले तीन दिनों तक जारी रहेगा। मौसम विभाग ने मुंबई के साथ साथ आसपास के जिलों ठाणे, पालघर और रायगढ़ के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी कर दिया है। मौसम विभाग का अनुमान है कि इन जिलों के कुछ इलाकों में गुरूवार को तेज बरसात हो सकती है। इससे पहले बुधवार के लिए ऑरेंज अलर्ट घोषित किया गया था। जिसे बढ़ाकर रेड अलर्ट में बदल दिया गया। मौसम विभाग ने लोगों को भारी बारिश के लेकर सोशल मीडिया पर फैल रही अफवाहों से दूर रहने और सही जानकारी के लिए मौसम विभाग की वेबसाइट देखने की सलाह दी है। मौसम विज्ञानी केएक होसलीकर ने ट्वीट कर जानकारी दी कि सैटेलाइट की ताजा तस्वीरों में पश्चिम किनारपट्टी, कोंकण, मुंबई, ठाणे, पालघर के ऊपर घने बादल नजर आ रहे हैं। इन इलाकों में अगले कुछ घंटों में भारी बारिश हो सकती है। अगले 48 घंटों में मुंबई और आसपास के इलाकों में भारी बारिश के साथ 45 से 55 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी। वहीं बुधवार को भी मुंबई और आसपास के इलाकों में बरसात का सिलसिला जारी रहा लेकिन निचले इलाकों में जलजमाव की समस्या नहीं हुई इस दौरान लोकल ट्रेनें चलतीं रहीं। बुधवार को शाम साढ़े छह बजे तक सांताक्रूज में 24 मिलीमीटर जबकि कोलाबा में 8 मिलीमीटर बरसात दर्ज की गई।     

नागपुर में दिनभर बारिश, 2.9 मिमी हुई दर्ज

उपराजधानी में बुधवार को सुबह से बारिश का दौर चलता रहा। बीच-बीच में बारिश रुकी, लेकिन कुछ ही देर के लिए। हालांकि तेज बारिश नहीं होने के कारण कहीं पर जलभराव और अन्य घटनाएं नहीं हुईं। मौसम विभाग के अनुसार, बुधवार को 2.9 मिलीमीटर बारिश हुई। मौसम विभाग ने गुरुवार को भारी बारिश की चेतावनी दी है। बुधवार को जिले में अधिकतम तापमान 26.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि न्यूनतम तापमान 24.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अधिकतम और न्यूनतम तापमान में सिर्फ 2.4 डिग्री का अंतर रहा। बारिश के कारण आर्द्रता 100 प्रतिशत रही। गुरुवार के लिए मौसम विभाग ने येलो अलर्ट जारी किया है।  

विदर्भ के सात जिलों में लगातार बारिश 

विदर्भ के सातों जिलों में कहीं मंगलवार की रात से तो कहीं बुधवार की सुबह बारिश जारी है। अमरावती निरंतर बारिश के कारण पूर्णा नदी में बाढ़ जैसी स्थिति निर्माण हो गई है। वहीं अपर वर्धा बांध का जलस्तर बढ़ गया है। वर्धा में सुबह से जारी रिमझिम फुहारों के बीच लाला नाला बांध के पांच गेट खोल दिए गए हैं। वहीं यवतमाल, गोंदिया, भंडारा, चंद्रपुर और गड़चिरोली में सुबह से जारी बारिश के कारण किसानों और आम नागरिकों को काफी राहत मिली है।  

अमरावती में मंगलवार की रात से ही लगातार बारिश का सिलसिला शुरू है। इस कारण नदी और नाले भी उफान पर रहे। जिले के साथ ही संभाग के सबसे बड़े प्रकल्प उध्र्व वर्धा का जलसंग्रह पर्याप्त बारिश नहीं होने के कारण अब तक 45 प्रतिशत के आसपास ही दिखाई दे रहा था किंतु इस वर्ष पहली बार लगातार बारिश के कारण मालु व जाम नदी में पानी बढ़ गया है, जिस वजह से उध्र्व वर्धा प्रकल्प में हर घंटे में जलसंग्रह बढ़ रहा है। कैचमेट एरिया में बारिश अधिक रहने की वजह से इस प्रकल्प के गेट कुछ सेंटीमीटर खोलते हुए नदी में पानी छोड़ा जा रहा था।  

यवतमाल में सुबह 10 बजे से रिमझिम बारिश शुरू हुई जो दिनभर शुरू रही।  चंद्रपुर मंगलवार की रात से बारिश शुरू हुई जो बुधवार को भी जारी रही। गड़चिरोली में मंगलवार की रात से रिमझिम बारिश शुरू है। गोंदिया  में  दोपहर बाद शहर में हल्की बारिश शुरू हुई, जो लगभग डेढ़ घंटे तक चलती रही। भंडारा में एक सप्ताह के विराम के बाद जिले में मेघ मेहरबान नजर आ रहे  हैं। मंगलवार के बाद बुधवार को जिले के सभी सात तहसीलों में बारिश होती रही।  


 

 


 

खबरें और भी हैं...