comScore

एटीएम में पीछे खड़े होकर देख लिया पिन नंबर, कार्ड बदलकर लगाई 60 हजार की चपत

एटीएम में पीछे खड़े होकर देख लिया पिन नंबर, कार्ड बदलकर लगाई 60 हजार की चपत

डिजिटल डेस्क,नागपुर ।  ऑनलाइन खाते से पैसे उड़ाने के  मामले  अक्सर सामने आते रहते  हैं फिर भी लोग इसका शिकार हो जाते हैं।  एटीएम सेंटर में कार्ड बदलकर एक व्यक्ति के खाते से 60 हजार रुपये पार कर दिए गए।  मामला हाल ही में कपिल नगर थाना अंतर्गत उजागर हुआ है। आरोपी ने पीछे खड़े रहकर पीन नंबर देख लिया था। फरियादी की शिकायत पर कपुल नगर पुलिस स्टेशन में पुलिस हवालदार पंकज चौहान ने मामला दर्ज किया है। पुलिस आगे की जांच कर रही है।

जानकारी के अनुसार फरियादी विनोद अनिलराव नारनवरे ( 44) निवासी सन्याल नगर, नारी रोड है। उनके पास स्टेट बैक ऑफ इंडिया का एटीएम कार्ड हैं। घटना के दिन यानी 9 सितंबर को कपिल नगर सीमा में नारी रोड समीप एटीएम में पैसे निकालने के लिए गये थे। जहां एक व्यक्ति एटीएम में पैसे निकाल रहा था। जब फरियादी उसके पीछे खड़ा हुआ तो आरोपी ने उसे पहले पैसे निकालने के लिए कहा। जब फरियादी ने पहली बार 10 हजार रुपये निकाले, उस वक्त पीछे खड़े आरोपी ने उसका पिन नंबर देख लिया। इसके बाद फरियादी फिर से पैसे निकालने की फिराक में था लेकिन मशीन हैंग हो गई। इस बीच आरोपी ने उसे केवल उसकी जमा राशि देखने की बात कहकर पहले उसे मशीन का इस्तेमाल करने देने के लिए कहा।  ऐसे में फरियादी ने उसे फिर आगे किया। लेकिन आरोपी ने कुछ देर मशीन का इस्तेमाल करते हुए फिर से फरियादी को पैसे निकालने के लिए कहा। वहीं उसका कार्ड अपने हाथों में लेकर खुद स्वैप कर देने की बात कही। इस बीच आरोपी ने एटीएम बदल दिया।

फरियादी दूसरा एटीएम लगा रहा था। ऐसे में पैसे नहीं निकल रहे थे। इस बीच आरोपी उनका एटीएम लेकर वहां से भाग गया। जब तक फरियादी को एटीएम की अदला-बदली समझती आरोपी वहां से निकल गया था। ऐसे में फरियादी ने तुरंत बैक जाकर एटीएम ब्लॉक करने के लिए कहा। लेकिन तब तक आरोपी ने दूसरे एटीएम सेंटर का उपयोग करते हुए   फरियादी को 59 हजार 500 रुपये की चपत लगा दी थी। फरियादी द्वारा खाते से गायब पैसों को लेकर कई प्रयास विफल साबित होने के बाद आखिरकार पुलिस का सहारा लिया है।

सतर्क रहना जरूरी

नियमानुसार किसी भी एटीएम सेंटर में पैसे निकालते वक्त केवल एक ही व्यक्ति का मौजूद रहना जरूरी है। इसके लिए एटीएम सेंटर के सामने गार्ड भी रहते हैं। जो बारी-बारी लोगों को अंदर भेजते हैं। इससे कोई भी किसी का पिन नंबर नहीं समझ सकता है। लेकिन इन दिनों शहर के बहुतांश एटीएम में गार्ड ही नहीं रहते हैं। जिससे एक बार में कई लोग एटीएम के अंदर पैसे निकालने के लिए खडे़ हो जाते हैं। अपराधिक गतिविधियों में शामिल लोग इसका फायदा उठाते हुए उपरोक्त वारदातों को अंजाम देने में सफल हो जाते हैं। ऐसे में सतर्क रहना जरूरी है।शहर के बहुतांश एटीएम में गार्ड ही नहीं रहते हैं। जिससे एक बार में कई लोग एटीएम के अंदर पैसे निकालने के लिए खडे़ हो जाते हैं। आपराधिक गतिविधियों में शामिल लोग इसका फायदा उठाते हुए उपरोक्त वारदातों को अंजाम देने में सफल हो जाते हैं। ऐसे में सतर्क रहना जरूरी है।

कमेंट करें
94Zlo