दैनिक भास्कर हिंदी: मोबाइल और वाहन चोर बच्चा गैंग पकड़ाया, 4 आरोपी पुलिस के हाथ लगे

May 12th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। सीताबर्डी क्षेत्र में दोपहिया वाहन और फोन पर बात करते हुए जाते समय मोबाइल छीनने की वारदातें बढ़ने लगी थीं। इस बारे में पुलिस आरोपियों की धरपकड़ के लिए कई दिनों से नजरे गड़ाए हुए थी। पुलिस के हाथ एक विधि संघर्षग्रस्त बालक लगने पर मोबाइल फोन व दोपहिया वाहनों की चोरी करने वाले चार विधि संघर्षग्रस्त बालकों को पुलिस ने धरदबोचा। इन आरोपियों को पकड़ने के लिए सीसीटीवी कैमरों की मदद ली गई। इन बालकों से 10 दोपहिया वाहन, 7 मोबाइल फोन सहित करीब 5 लाख 61 हजार रुपए का माल जब्त किया गया है। यह जानकारी शनिवार को पुलिस उपायुक्त चिन्मय पंडित ने सीताबर्डी स्थित पुलिस उपायुक्त परिमंडल क्र.-2 के कार्यालय में आयोजित पत्र परिषद में दी। सीताबर्डी थानांतर्गत लूटपाट का विरोध करने पर कमलेश देशमुख, इंदिरानगर जाटतरोडी निवासी पर आरोपियों ने कोयता से हमला कर दिया। कमलेश ने इसकी शिकायत सीताबर्डी थाने में की थी। उन्होंने पुलिस को बताया कि, गत 21 अप्रैल को वह रेलवे स्टेशन से पैदल जा रहे थे। इस दौरान तड़के करीब 3.30 बजे दोपहिया पर आरोपी आए। आनंद टाॅकीज चौक में उन पर हमला कर दिया। मामले की शिकायत के बाद पुलिस ने छानबीन शुरू की। सीसीटीवी कैमरे की मदद से एक विधि संघर्षग्रस्त बालक का नाम पता चला। पुलिस ने बालक को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने विधि संघर्ष बालक  व अक्षय बन्सोड नामक मित्राें के साथ वारदात को अंजाम देने की बात कबूल की। विधि संघर्ष बालक ने पुलिस को बताया कि, उसने कमलेश पर कोयता से वार किया व अक्षय ने मोबाइल तथा पर्स छीना था। उसके बाद सभी आराेपी बारसे नगर में जाकर रेलवे पटरी के पास रुके। वहां पर माल का बंटवारा किया। पर्स को वहीं पर फेंक दिया। पुलिस ने इस मामले में शामिल तीनों आरोपी  - अक्षय बंसोड, आकाश गणवीर और निखिल टेंभूर्णे को गिरफ्तार किया। 

घातक शस्त्र के साथ घूमते मिले दो तड़ीपार

उधर शहर में दो तड़ीपारों को घातक शस्त्रों के साथ घूमते हुए पुलिस ने धरदबोचा। गिरफ्तार आरोपियों में ओमप्रकाश उर्फ ओमी अजितकुमार रुधवानी (28), लष्करीबाग और प्रशांत घनश्याम वासनिक (21), कावरापेठ निवासी है। दोनों आरोपियों को जिले से तड़ीपार किया गया है। दोनों आरोपी शहर में पुलिस की बिना अनुमति के घूम रहे थे। दोनों आरोपियों को अलग-अलग स्थानों से गिरफ्तार किया गया। पुलिस सूत्रों के अनुसार पांचपावली थाने का गश्तीदल गत दिनों क्षेत्र में गश्त पर था। इसी दौरान पुलिस ने गुप्त सूचना मिलने पर आरोपी ओमप्रकाश उर्फ ओमी रुधवानी को धरदबोचा गया। आरोपी ओमी को दो वर्ष के लिए जिले से तड़ीपार है। ओमी पुलिस की अनुमति के बिना शहर में घूमते हुए पकड़ा गया। वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में पांचपावली थाने के वरिष्ठ अधिकारी अशोक मेश्राम, सहायक पुलिस निरीक्षक सुरोशे, हवलदार राजकुमार शर्मा, नायब पुलिस सिपाही राकेश तिवारी, जितेंद्र खरपुरिया, विशाल साखरे, दीपक सराटे, विनोद बरडे व राज चौधरी ने कार्रवाई में सहयोग िकया। दूसरी घटना शांतिनगर थानांतर्गत हुई। इस थाने का गश्तीदल क्षेत्र में गश्त पर था। इसी दौरान गुप्त सूचना मिली िक, तड़ीपार आरोपी प्रशांत वासनिक कावरापेठ क्षेत्र में चाकू लेकर घूम रहा है। पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी को घेरने का प्रयास करने लगी। पुलिस आने की भनक लगते ही आरोपी प्रशांत वासनिक भागने लगा। पुलिस ने उसे पीछा कर धरदबोचा। आरोपी की तलाशी लेने पर उसके पास से 13 इंच लंबा चाकू बरामद किया गया। पूछताछ में उसने पुलिस को बताया कि, उसे नागपुर जिले से एक वर्ष के लिए तड़ीपार किया गया है। वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदशर्न में शांतिनगर थाने के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक के बी. उइके, एएसआई घनश्याम तिवारी, नायब पुलिस सिपाही अश्विन, सिपाही विवेक व अन्य ने कार्रवाई में सहयोग किया।


अवैध शराब बेचने वाले 43 लोग गिरफ्तार

एक मामले में आबकारी विभाग ने जिले में अलग-अलग स्थानों पर छापामार कार्रवाई कर अवैध शराब बेचने के आरोप में एक ही दिन में 43 लोगों को गिरफ्तार किया। इनके कब्जे से 82 हजार 562 रुपए का माल जब्त किया गया। आबकारी विभाग ने  सीताबर्डी, राणा प्रताप नगर, अंबाझरी, नाईक तालाब, गड्डीगोदाम, हुड़केश्वर खुर्द, पारडी, कलमना, यशोधरा नगर, सावनेर तहसील के बडेगांव, पिपला, कामठी, नरखेड़, जयताला, हिंगना, महालगांव, कामठी, बिडगांव, नंदनवन, जरीपटका व पांचपावली परिसर में एक साथ छापेमारी कर 43 लोगांे को गिरफ्तार किया। विभाग ने कुल 44 मामले दर्ज किए हैं। विभाग ने महुआ शराब 533 लीटर, देशी शराब 127 लीटर, ताड़ी-नीरा 255 लीटर समेत 82 हजार 562 रुपए का माल जब्त किया। आबकारी अधीक्षक प्रमोद सोनोने के मार्गदर्शन व उप अधीक्षक पटवर्धन एवं ज्ञानेश्वरी अहेर के नेतृत्व में की गई कार्रवाई में निरीक्षक सुनील सहस्त्रबुद्धे, केशव चौधरी, सुभाष हनवते, बालासाहेब पाटील, प्रभारी निरीक्षक मुरलीधर कोडापे, दुय्यम निरीक्षक रावसाहेब कोरे, केंद्रे, उमेश शिरभाते, राहुल अंबोरे, नरेंद्र बोलधने, राजेंद्र बोलधने, बापूसाहेब बोढारे, बालू भगत, अनिल जुमडे, शैलेश अजमिरे, दत्तात्रय वरटी, मुकुंद चिटमटवार शामिल थे। नागपुर में नारियल, सिंदी व खजूर के पेड़ों का जल बेचने की आड़ में पाउडर मिश्रित नीरा या ताड़ी बेचने की शिकायत आबकारी विभाग को मिली है। यह पानी सुबह-सुबह बेचा जाता है। नारियल, सिंदी व खजूर के पेड़ का पानी सेहत के लिए अच्छा होता है। इसकी आड़ में लोगों को मिल रहा पाउडर मिश्रित पानी स्वास्थ्य के लिए खतरनाक है। आबकारी विभाग इसकी जांच कर रहा है।