comScore

मुख्यमंत्रियों के साथ मंथन: पीएम मोदी बोले- कोरोना जितना रुकेगा, अर्थव्यवस्था उतनी बढ़ेगी


हाईलाइट

  • कोरोना और लॉकडाउन पर पीएम मोदी का मंथन
  • आज पीएम ने 21 राज्यों के मुख्यमंत्रियों से की चर्चा

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस की रफ्तार अब पहले से ज्यादा हो गई है। देश में अनलॉक 1.0 के शुरू होने के बाद से प्रतिदिन 9-10 हजार से ज्यादा मरीज पाए जा रहे हैं। अब इस संकट से निपटने की रणनीति को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिन यानी आज और कल (16-17 जून) सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों, उपराज्यपालों और प्रशासकों के साथ मैराथम बैठक करेंगे। आज मंगलवार को पीएम ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से 21 राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बातचीत की। पीएम मोदी ने कहा, कोरोना से हुई किसी की भी मौत असहज करने वाली है।

बातचीत के दौरान कोरोना संकट को लेकर पीएम मोदी ने कहा, अनलॉक 1 को दो सप्ताह हो रहे हैं, इस दौरान जो अनुभव आए हैं उसकी समीक्षा और उसपर चर्चा आगे के लिए बहुत उपयोगी हो सकती हैं। पीएम ने मुख्यमंत्रियों से कहा, आज चर्चा में मुझे भी आपसे बहुत कुछ जानने का मौका मिलेगा, जमीनी स्तर पर वास्तविकता को समझने का अवसर मिलेगा, आज की चर्चा के निकले प्वाइंट और आपके सुझाव देश को आगे की रणनीति निर्धारित करने में मदद करेंगे।

पीएम मोदी ने कहा... 

  • भविष्य में जब कभी भारत की कोरोना के खिलाफ लड़ाई का अध्ययन होगा, तो ये दौर इसलिए भी याद किया जाएगा कि कैसे इस दौरान हमने साथ मिलकर काम किया, कॉपरेटिव फीडरिज्म का सर्वोत्तम उदाहरण प्रस्तुत किया। हमें इस बात का हमेशा ध्यान रखना है कि, हम कोरोना को और उसके प्रसार को जितना रोक पाएंगे, उसका बढ़ना जितना रोक पाएंगे, उतना ही हमारी अर्थव्यवस्था खुलेगी, हमारे दफ्तर खुलेंगे, मार्केट खुलेंगे, ट्रांसपोर्ट के साधन खुलेंगे, और उतने ही रोजगार के नए अवसर भी बनेंगे।
     
  • दुनिया के बड़े-बड़े एक्सपर्ट्स, हेल्थ के जानकार, लॉकडाउन और भारत के लोगों द्वारा दिखाए गए अनुशासन की आज चर्चा कर रहे हैं। आज भारत में रिकवरी रेट 50 प्रतिशत से ऊपर है। भारत दुनिया के उन देशों में अग्रणी है जहां कोरोना संक्रमित मरीज़ों का जीवन बच रहा है।
     
  • किसान के उत्पाद की मार्केटिंग के क्षेत्र में हाल में जो रिफॉर्म्स किए गए हैं, उससे भी किसानों को बहुत लाभ होगा। किसानों को अपनी उपज बेचने के लिए नए विकल्प उपलब्ध होंगे, उनकी आय बढ़ेगी और स्टोरेज के अभाव के कारण उनको जो नुकसान होता था, उसे भी हम कम कर पाएंगे।
     
  • लोकल प्रोडक्ट के लिए जिस क्लस्टर बेस्ड रणनीति की घोषणा की गई है, उसका भी लाभ हर राज्य को होगा। इसके लिए ज़रूरी है कि हम हर ब्लॉक, हर जिले में ऐसे प्रोडक्ट्स की पहचान करें, जिनकी प्रोसेसिंग या मार्केटिंग करके, एक बेहतर प्रोडक्ट हम देश और दुनिया के बाज़ार में उतार सकते हैं। इस साल मई में खाद की बिक्री, पिछले साल की तुलना में दोगुनी हुई है। खरीफ की बुआई पिछले साल के मुकाबले 12-13 फीसदी ज्यादा हुई है।

पीएम मोदी संग आज की बैठक में पंजाब, असम, केरल, हिमाचल प्रदेश, चंडीगढ़, गोवा, उत्तराखंड, झारखंड, छत्तीसगढ़, त्रिपुरा, मणिपुर, नगालैंड, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय, लद्दाख, पुडुचेरी, मिजोरम, अंडमान-निकोबार, दादर-नगर हवेली दमन-दीव, सिक्किम और लक्षद्वीप राज्यों के मुखिया शामिल हुए। इन राज्यों में अन्य प्रदेशों के मुकाबले कोरोना के कम मामले हैं।

Coronavirus in India: देश में 24 घंटे में 11,502 नए केस, 325 की मौत, मरीजों की संख्या 3.32 लाख के पार

17 जून को बाकी 15 राज्यों का हाल जानेंगे पीएम मोदी
बुधवार को पीएम मोदी बाकी 15 राज्यों के मुख्यमंत्रियों और केंद्रशासित प्रदेशों के प्रशासकों के साथ बैठक करेंगे। इनमें मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, दिल्ली, तमिलनाडु, गुजरात, राजस्थान, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, बिहार, आंध्र प्रदेश, हरियाणा, जम्मू कश्मीर, तेलंगाना और ओडिशा शामिल हैं। इन राज्यों में कोरोना संक्रमण की रफ्तार काफी ज्यादा है। देश में कोरोना के सबसे अधिक मरीज महाराष्ट्र में हैं। तमिलनाडु दूसरे नंबर पर और दिल्ली तीसरे स्थान पर है।

पहली बार लगातार दो दिनों तक मोदी का मंथन 
बता दें कि, इससे पहले कोरोना संकट को लेकर प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्रियों के बीच 20 मार्च, 2 अप्रैल, 11 अप्रैल, 27 अप्रैल और 11 मई को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक हो चुकी है। यह पहली बार है जब पीएम लगातार दो दिनों तक मुख्यमंत्रियों के साथ कोरोना से निपटने के मुद्दे पर बात करेंगे।

कमेंट करें
qXmHG