दैनिक भास्कर हिंदी: मुंबई : सेक्स बाजार से निकाली गई 13 बाग्लादेशी लड़कियां

August 29th, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई। नौकरी दिलाने के नाम पर बांग्लादेश से मुंबई में देह व्यापार में धकेली गई एक 20 वर्षीय लड़की ने हिम्मत कर न सिर्फ खुद उस नर्क से छुट्टी पाई बल्कि 16 दूसरी लड़कियों को भी पुलिस की मदद से रिहा कराने में कामयाब रही। छुड़ाई गई 16 लड़कियों में से 13 बांग्लादेशी हैं। गरीब घरों की इन लड़कियों को गैरकानूनी तरीके से सीमा पार कर लाया गया है।

समाजसेवा शाखा के सीनियर इंस्पेक्टर संदेश रेवले ने बताया कि लड़की ने फोन कर मदद मांगी जिसके बाद पुलिस तुरंत उस तक पहुंची। लड़की से मिली जानकारी के आधार पर देह व्यापार के दलदल में धकेली गई दूसरी लड़कियों को भी रिहा करा लिया गया। गरीब परिवार की लड़की को एक एजेंट ने मुंबई में नौकरी दिलाने का झांसा दिया। आरोपी ने लड़की को दूसरे एजेंट के जरिए रात में भारत की सीमा में दाखिल कराया और खुद वैध तरीके से भारत में आया। भारत की सीमा से आरोपी लड़की को नई मुंबई के खारघर इलाके में ले आया।

कुछ दिनों साथ रखने के बाद उसे ग्रांटरोड इलाके में स्थित चकलाघर में बेंच दिया। यहां चकलाघर चलाने वाली महिला और उसके साथियों ने लड़की से लगातार मारपीट कर उसे जबरन कैद में रखा और देह व्यापार के लिए मजबूर किया। इस बीच लड़की ने अपने पास आने वाले एक ग्राहक को अपनी पीड़ा बताई और उससे मदद मांगी। उस शख्स ने लड़की को समाजसेवा शाखा का नंबर दिया। लड़की किसी तरह फोन कर समाजसेवा शाखा से संपर्क किया और मामले की जानकारी दी।

इसके बाद रेलवे और पुलिस इंस्पेक्टर प्रभा रावल की अगुआई में समाजसेवा शाखा ने ग्रांटरोड के चकलाघर में छापा मारा तो वहां तीन कमरों में बंद कर रखी गईं 16 लड़कियां मिली। सभी गरीब लड़कियों को एजेंट नौकरी का झांसा देकर गैरकानूनी तरीके से रात के अंधेरे में सीमा पार करा मुंबई लाए थे। सभी लड़कियों को सुधारगृह भेज दिया गया है और उनके परिवारों से संपर्क करने की कोशिश की जा रही है। डीबी मार्ग पुलिस ने चकलाघर चलाने वाली महिला को गिरफ्तार कर लिया है।  


 

खबरें और भी हैं...