comScore

ट्रेक्टर चालक की गोली मारकर हत्या, अवैध रेत खदान में मिली लाश

June 13th, 2018 19:04 IST
ट्रेक्टर चालक की गोली मारकर हत्या, अवैध रेत खदान में मिली लाश

डिजिटल डेस्क, शहडोल। थाना क्षेत्र बुढ़ार अंतर्गत धनगवां के नागोआ नाला के समीप एक ट्रेक्टर चालक की गोली मारकर हत्या कर दी गई। बताया गया है कि जहां घटना हुई वहां रेत की अवैध खदान संचालित है। पुलिस नामजद आरोपी के विरुद्ध हत्या का प्रकरण कर प्रकरण की जांच में लगी हुई है।

जानकारी के अनुसार ट्रेक्टर चालक पतेराटोला निवासी 24 वर्षीय मोहे बैगा पिता जयपाल को मंगलवार की सुबह 6 बजे धनगवां निवासी ट्रेक्टर मालिक भूरा यादव व होलाराम साहू बुलाकर ले गए थे। पुलिस के अनुसार गाड़ाघाट में जागेश्वर गोंड़ जो दो ट्रेक्टर का मालिक है उससे गुटके को लेकर विवाद हुआ। जिस पर जागेश्वर ने कनपटी में गोली दाग दी, जिससे मोले बैगा की वहीं मौत हो गई। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने आवश्यक कार्रवाई के बाद शव को पोस्मार्टम के लिए भेजा। साथ ही आरोपी के विरुद्ध धारा 302 व 25/27 आम्र्स एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज कर उसकी तलाश शुरु कर दी है।

पुलिस द्वारा भले ही घटना का कारण मामूली विवाद बताया जा रहा हो, लेकिन चर्चाओं में रेत के अवैध कारोबार को कारण माना जा रहा है। इस संबंध में SP कुमार सौरभ का कहना है कि प्रकरण की गहनता से जांच की जा रही है।

नवजात की मौत, परिजनों का हंगामा
जिला चिकित्सालय के SNCU वार्ड में रविवार को हंगामे के बाद तोड़ फोड़ हो गई। मामला यह था कि प्रसव के कुछ ही देर बाद एक नवजात की मौत हो गई, जिस पर परिजनों ने लापरवाही का आरोप लगाते हुए कांच तोड़ डाला। जानकारी के अनुसार प्रीति सिंह पति भूपेंद्र सिंह निवासी रोहनिया को पिछली रात्री जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया था, जहां उसने दोपहर करीब 12 बजे एक बच्चे को जन्म दिया। नवजात की हालत कुछ गंभीर होने के कारण SNCU वार्ड में एडमिट कराया। जहां उसकी हालत बिगड़ने लगी। परिजनों का कहना था कि दोपहर 2 बजे से डॉक्टर को बुलाने के लिए कंपाउंडर को कहा लेकिन समय पर नहीं बुलाया। शाम 4 बजे बच्चे की मौत हो गई, जिस पर परिजन आक्रोशित हो उठे और तोड़फोड़ करने लगे।

डायल 100 को इस घटना की सूचना दी गई। अस्पताल पुलिस चौकी से भी पुलिस पहुंची। कुछ लोगों को कोतवाली ले जाया गया। कोतवाली पुलिस ने नवजात बच्चे के मामले में मर्ग कायम कर जांच में लिया है। वहीं SNCU प्रभारी डॉक्टर सुनील हथेगल का कहना है कि बच्चे की श्वांस नली में गंदी पानी या मल फंस गया था। बच्चा जब पैदा हुआ तब वह सांस नहीं ले पा रहा था, मैं स्वयं वहां मौजूद था। SNCU स्टाफ  के साथ बच्चे को सांस देने का प्रयास भी किया, पर वापस नहीं लौट पाई।

कमेंट करें
Goful