comScore

तनाव से मुक्ति के लिए संगीत, क्रीड़ा, साहित्य जरूरी : श्री श्री रविशंकर

तनाव से मुक्ति के लिए संगीत, क्रीड़ा, साहित्य जरूरी : श्री श्री रविशंकर

डिजिटल डेस्क, नागपुर। विश्व में करोड़ो लोग मानसिक तनाव में जीते हैं। उस तनाव से निकलने के लिए सबसे अच्छा माध्यम संगीत, क्रीड़ा, साहित्य हैं इस तरह के महोत्सवों का आयोजन होते रहना चाहिए। यह बात आध्यात्मिक गुरु व आर्ट ऑफ लिविंग के प्रणेता श्री श्री रविशंकर ने केन्द्रीय मंत्री नितीन गडकरी की संकल्पना पर आयोजित खासदार सांस्कृतिक महोत्सव के उद्घाटन अवसर पर कही। हनुमान नगर के क्रीड़ा चौक स्थित ईश्वर देशमुख शारीरिक शिक्षण महाविद्यालय मैदान में कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। महोत्सव के पहले दिन हजारों की संख्या में लोगों की भीड़ नजर आई। श्री श्री रविशंकर के स्वागत के उपरांत केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी का स्वागत किया गया। उद्घाटन के उपरांत कार्यक्रम की प्रस्तावना विधायक अनिल सोले ने रखी। कार्यक्रम में पूर्व पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले, विधायक मोहन मते, कृष्णा खोपडे, गिरीश व्यास, रामदास आंबटकर, विकास कुंभारे, सुधाकर देशमुख, महापौर संदीप जोशी, पूर्व महापौर नंदा जिचकार, गिरीश गांधी, खासदार सांस्कृतिक महोत्सव समिति के अध्यक्ष अनिल सोले, वरिष्ठ कवि मधुप पांडेय, नगरसेवक संदीप गवई, दक्षिण मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र के संचालक डॉ. दीपक खिरवडकर, संस्कार भारती की कांचन गडकरी उपस्थित थे। 

कमेंट करें
WLv4j