comScore

मुस्लिम आरक्षण : कांग्रेस-राकांपा ने शिवसेना का साथ छोड़ा, तो भाजपा दोगी साथ - मुनगंटीवार

मुस्लिम आरक्षण : कांग्रेस-राकांपा ने शिवसेना का साथ छोड़ा, तो भाजपा दोगी साथ - मुनगंटीवार

डिजिटल डेस्क, मुंबई। मुस्लिम आरक्षण को लेकर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बयान के बाद महा विकास आघाडी में मतभेद खुलकर सामने आ गए हैं। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने खुद प्रेस कांफ्रेस कर कांग्रेस-राकांपा के मुस्लिम आरक्षण के दावों पर पानी फेर दिया है, जबकि कांग्रेस नेता कह रहे हैं हम मुस्लिम आरक्षण देकर रहेंगे। इस बीच भाजपा के वरिष्ठ नेता सुधीर मुनगंटीवार ने कहा है कि मुस्लिम आरक्षण को लेकर यदि कांग्रेस-राकांपा ने शिवसेना का साथ छोड़ा तो भाजपा उद्धव ठाकरे का साथ देगी।  

सीएम के इंकार के बाद चव्हाण ने कहा- देकर रहेंगे आरक्षण

एनसीपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता नेता व राज्य के अल्पसख्यक कल्याण मंत्री नवाब मलिक ने दो दिन पहले विधान परिषद में मुस्लिमो को शिक्षा में 5 फीसदी आरक्षण देने का एलान किया था। इसके बाद से विपक्षी दल भाजपा शिवसेना को घेरे में जुट गई थी। मंत्री मलिक के इस बयान के बाद विश्व हिंदू परिषद सहित तमाम हिंदु संगठनों ने इसकी निंदा करते हुए शिवसेना को कठघरे में खड़ा करना शुरु किया था। मुस्लिम आरक्षण को लेकर मुख्यमंत्री ठाकरे के बयान के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व राज्य के पीडब्लूडी मंत्री अशोक चव्हाण ने कहा कि कांग्रेस व राकांपा के चुनाव घोषणा पत्र में मुस्लिम आरक्षण का वादा शामिल है। इस लिए हम अपना यह वादा पूरा करके रहेंगे। एमआईएम विधायक मुफ्ती स्माईल ने कहा कि सरकार की नियति में मुस्लिमों को आरक्षण देना नही है। वहीं मुस्लिम आरक्षण पर महा विकास आघाडी सरकार के मतभेदों पर प्रदेश भाजपा के प्रवक्ता विधायक राम कदम ने कहा कि ये लोग संविधान से हटकर सिर्फ लोगो को बेवकूफ बना रहे हैं।

कमेंट करें
HUEIn