दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर : चिंचभवन में फंसे 150 मजदूरों की गुहार, बोले हमें घर जाना है

March 25th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर। चिंचभवन के पास एक बिल्डिंग में काम करने वाले लोगों ने फोन कर स्थानीय प्रशासन को फंसे होने की सूचना दी। इतना ही नहीं फोन पर बताया कि करीब 150 मजदूर फंसे हुए है। मामले की गंभीरता को ध्यान में रखकर पुलिस मौके पर पहुंची तो सामने आया कि एक निर्माणधीन में काम करने वाले अन्य राज्यों सहित विदर्भ के कुछ मजदूर रह रहे है। बंद होने के कारण सब अपने घर जाना चाहते है लेकिन पुलिस की समझाइस पर सभी मान गए। वहां काम करने वाले मजदूर पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़, भंडारा, गोंदिया, काटोल आदि जगह के है।

जानकारी के अनुसार बुधवार 25 मार्च को दोपहर चिंचभवन में एक निर्माणधीन बिल्डिंग में काम करने वालों ने फोन कर सूचना दी कि करीब 100 से 150 मजदूर फंसे हुए है। धीरे-धीरे खबर शहर में फैलने लगी कि इसी बीच मनपा के एनडीएस टीम के सदस्य और पुलिस मौके पर पहुंची। बिल्डिंग में पिछले दिनों से काम बंद चल रहा था और वहां काम करने वाले मजदूर वहीं रह रहे थे। मजदूरों के पास कोई काम ना होने की वजह से बुधवार को कुछ लोगों ने चर्चा कर फंसे होने की सूचना फैला दी। इस पर स्थानीय पुलिस थाना बेलतरोड़ी के पुलिस निरीक्षक विजय आकोत ने मौके पर पहुंचकर सभी से मुलाकात की। सबसे पहले लोगों को वहां दूर-दूर खड़े होने के लिए कहा गया। जब सभी आ गए तो उनसे पूछा गया कि किसी को भी खाने की समस्या है क्या? किसी को भी रहने की समस्या है क्या? सभी लोगों ने इंकार कर दिया।

इस पर कुछ मजदूरों ने कहा कि हमें कोई संसाधन मिल जाता तो हम घर चले जाते। पुलिस निरीक्षक ने कहा कि साधन की सुविधा नहीं है। वाहनों को जाने की अनुमति नहीं है यदि आपके पास खुद का वाहन है तो मैं पत्र दे दूंगा लेकिन इतने लोग एक गाड़ी में बैठकर नहीं जा सकते है इस वजह से यहीं आराम से रहें। देशभर में ऐसी ही स्थिति है आपके घर पर भी ऐसी ही स्थिति बनी हुई है। मौके पर एनडीएस के राजेश गायकवाड़ भी मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...