दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर एयरपोर्ट का नहीं हो सका निजीकरण, धीमी पड़ी विकास की रफ्तार

December 30th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। संतरानगरी के डॉ.बाबासाहब आंबेडकर अंतरराष्ट्रीय विमानतल नागपुर का 2019 में भी निजीकरण नहीं हो पाया, हालांकि लोकसभा और विधानसभा के दौरान चुनावी भाषणों में निजीकरण खूब सुनने को मिला। इसके साथ ही विमानतल से जुड़े कई खट्टे-मीठे अनुभव साल भर बने रहे। कुछ शहरों के लिए नई विमानसेवा आरंभ हुई तो कुछ के लिए बंद भी हुई। जेट एयरवेज विमान कंपनी के बंद होने से नागपुर 7 उड़ानें बंद हो गईं।

आर्थिक तंगी से उड़ानों पर पाबंदी
आर्थिक तंगी के चलते जेट एयरवेज विमान कंपनी ने अपनी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय सारी उड़ानों को रद्द कर िदया। इसका नागपुर पर बड़ा असर पड़ा क्योंकि जेट एयरवेज की नागपुर से 7 उड़ानें थीं। जेट एयरवेज के विमान देश के राजधानी दिल्ली और राज्य की राजधानी मुंबई के अलावा इंदौर और इलाहाबाद के लिए उड़ान भरते थे। इन सब में सबसे हैरानी की बात यह है कि जेट एयरवेज के बंद होने के कारण प्रयागराज की उड़ान को हमेशा के लिए बंद कर दिया गया। वहीं किसी अन्य विमान कंपनी ने दौरान इस रूट पर उड़ान आरंभ नहीं की।

अहमदाबाद की उड़ान हुई आरंभ
नागपुर से अहमदाबाद की उड़ान इस साल गो एयर ने आरंभ की है। हालांकि शुरुआत में गो एयर ने दो विमान उड़ान आरंभ की थी, लेकिन बाद में एक उड़ान को रद्द कर दिया गया। एयर इंडिया ने दिल्ली के लिए उड़ान आरंभ किया है।

अटक गया निजीकरण
नागपुर विमानतल का निजीकरण एक बार फिर अटक गया। लोकसभा चुनाव के बाद विधानसभा चुनाव में निजीकरण की घोषणाएं कई बार सुनने को मिली, लेकिन अंतत: सफलता नहीं मिली। नागपुर विमानतल के िनजीकरण में सबसे अधिक बोली लगाने वाला जीएमआर ग्रुप का नाम सबसे आगे है। निजीकरण पर राज्य सरकार और बाद केन्द्र सरकार की मुहर लगने का इंतजार चल रहा है।

एयर मार्शल होंगे सेवानिवृत्त
भारतीय वायुसेना के मेंटेनेंस कमांड मुख्यालय की कमान प्रमुख एयर मार्शल आरकेएस शेरा (एवीएसएम, वीएसएम, एडीसी) ने फरवरी 2019 में कमान संभाली थी। वह इसी साल दिसंबर में सेवानिवृत्त होने वाले हैं।

मिहान पड़ा सुस्त
2019 में मल्टी-मॉडल इंटरनेशनल कार्गो हब एडं एयरपोर्ट एट नागपुर ( मिहान) में कुछ विशेष देखने को नहीं मिला। आर्थिक मंदी के चलते इस बार कोई भी कंपनी मिहान में कोई बड़ा प्रोजेक्ट लेकर भी नहीं आई। वहीं पूर्व में आने वाले प्रोजेक्ट ने भी कोई बहुत बड़ी शुरुआत नहीं की, जिस वजह से इस साल मिहान सुस्त अवस्था में दिखाई दिया।

एयर फेस्ट-2019 में विमानों ने दिखाए करतब
भारतीय वायुसेना के 87वें स्थापना दिवस और भारतीय वायुसेना के मेंटेनेंस कमांड मुख्यालय की 65वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में नागपुर एयर फेस्ट-2019 का आयोजन किया गया। चार साल पहले वर्ष 2015 में भी एयर फेस्ट-2019 का आयोजन किया जा चुका है। 8 और 10 नवंबर को इसका आयोजन वायुसेना नगर में किया गया। सूर्यकिरण एयरोबोटिक टीम (एसकेएटी) एचजेटी-16 किरण एमके.2 ट्रेनर एयरक्रॉफ्ट हवा में   शानदार करतब दिखाए। सारंग हेलीकॉप्टर की टीम के अद्म्य साहस को भी खूब सराहा गया। एयर वॉरियर ड्रिल टीम (एडब्ल्यूडीटी) की हैरतअंगेज करतब को देखकर दर्शक दांतों तले उंगलियां दबाने को मजबूर हो गए। आकाश गंगा स्काई डाइविंग में जवान आसमान में कई किलोमीटर ऊंचाई से कूदे और हवा में अठखेलियां करते हुए पैराशूट से जमीन पर उतरे।