नागपुर की कनेक्टिविटी होगी और जबरदस्त : गडकरी ने बताया - इंदोरा से दिघोरी पुल के बीच 3 अंडरपास, खापरी-बुटीबोरी तक 6 लेन महामार्ग बनाने की तैयारी

June 26th, 2022

डिजिटल डेस्क, नागपुर. इंदोरा चौक से दिघोरी चौक तक नया उड़ानपुल बनेगा। इसके लिए पांचपावली उड़ानपुल को तोड़ा जाएगा। यह कार्य जल्द शुरू होने की संभावना है। इसके लिए गतिविधियां तेज हो गई हैं। शनिवार को केंद्रीय भूतल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने इस कार्य की समीक्षा की। इस दौरान एनएचएआई के अधिकारियों ने संपूर्ण प्रकल्प की वीडियो के जरिये प्रेजेंटेशन दिया। बैठक में गडकरी ने अधिकारियों को महत्वपूर्ण सूचनाएं दीं। कहा-कहीं भी जाम की समस्या न हो, यातायात बिगड़ने की स्थिति में सर्विस रोड का अतिक्रमण हटाएं, दिघोरी चौक के पहले फोर लेन अंडरपास बनाएं। बताया गया कि फिलहाल मौजूदा उड़ानपुल तोड़कर नया उड़ानपुल तैयार किया जाएगा। इसी रास्ते पर पांचपावली के पास 2 रेलवे अंडरपास भी बनाए जाएंगे। 

बैठक में नई दिल्ली के मुख्य महाप्रबंधक असाटी, प्रादेशिक अधिकारी नागपुर राजीव अग्रवाल, अधीक्षक अभियंता वडेटवार, नीलेश यवतकर, पुणे के सीनकर, भोपाल के अनसखान उपस्थित थे। खापरी से बुटीबोरी तक 6 लेन महामार्ग बनाने पर भी चर्चा की गई। खापरी से बुटीबोरी महामार्ग 6 लेन का बनाने की घोषणा केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने पहले ही की थी। गडकरी ने कहा कि सड़क पर यातायात जाम की समस्या न हो, इसके लिए महामार्ग से जुड़े सर्विस रोड को चौड़ा और अच्छा बनाएं। जहां जगह उपलब्ध है, वहां विविध फलों के पेड़ भी लगाएं। खापरी उड़ानपुल के बाद यह छह लेन महामार्ग शुरू होगा। 19.68 कि.मी. का यह काम है। गडकरी ने अधिकारियों से कहा कि 50 साल के बाद की स्थिति को ध्यान में रखकर महामार्ग का नियोजन करें। दोनों बगल के मार्ग से लगे सर्विस रास्ते अच्छे से बनाएं। रास्ते का अतिक्रमण हटाएं। सर्विस रोड के पास अच्छे फुटपाथ और महामार्ग पर लाइट लगाएं। जिन स्थानों पर चौक है और सभी तरफ के रास्ते मिलते हैं, उन स्थानों का सौंदर्यीकरण व राष्ट्रीय महामार्ग प्राधिकरण द्वारा कब्जे में ली गई खुली जगह पर पौधारोपण करें। 

एनएचएआई की खुली जगह का व्यावसायिक विकास करें 
गडकरी ने कहा कि शहर में एनएचएआई से लगी अनेक खुली जगह है। इन जगहों की कीमत करोड़ों में है। यह जगह एनएचएआई के कब्जे में है। इस जगह का व्यावसायिक दृष्टि से नियोजन करें। इन जगहों पर एक शौचालय, छोटे बच्चों के दुग्धपान करने के लिए कमरा, पेट्रोल पंप, चार्जिंग स्टेशन बनाएं। इससे एनएचएआई को राजस्व भी मिलेगा। जनता को भी सुविधा प्राप्त होगी। विशेष यह कि इन जगहों पर अतिक्रमण नहीं होगा।