comScore

नागपुर के सीआरपीएफ जवान की हैदराबाद में मौत

नागपुर के सीआरपीएफ जवान की हैदराबाद में मौत

डिजिटल डेस्क, नागपुर। सीआरपीएफ के एक जवान की हैदराबाद में मृत्यु होने की जानकारी मिली है। मृतक का नाम बबन विट्ठलराव मनवर (39) पवननगर यशोधरा नगर, नागपुर निवासी है। बबन हैदराबाद में सीआरपीएफ में कार्यरत था। हैदराबाद से परिवार को बबन के मृत्यु की सूचना दी गई। वर्ष 2004 से बबन सीआरपीएफ में कार्यरत था। गड़चिरोली के बाद उसे हैदराबाद भेजा गया। उसकी मृत्यु का कारण पता नहीं चल पाया है। बबन के करीबियों ने बताया कि उसके सिर में गहरा घाव था। उसके साथ किसी अनहोनी की संभावना जताई जा रही है। उसके परिवार में पत्नी व दो बच्चे हैं। बबन का परिवार नागपुर में रहता है। वह हैदराबाद में अकेले रहता था। उसके करीबियों का कहना है कि किसी ने बबन पर हमला किया या मुठभेड़ में उसकी मौत हुई है। तीन दिन पहले बबन नागपुर आया थाा। हैदराबाद से बनन का शव  नागपुर लाया जाए रहा है। अंतिम संस्कार वैशालीनगर घाट पर शासकीय सम्मान के साथ किया जाएगा। 

फायरिंग प्रकरण में तीनों आरोपी 5 दिन की रिमांड पर

दिघोरी क्षेत्र के चामट चक्की चौक परिसर में ऑटो डीलर इमरान सिद्दीकी सदरु जमाल सिद्दीकी पर फायरिंग करने के मामले में पहले दिन पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया था।  तीसरे आरोपी को भी गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार आरोपी रफीक खान बाबू खान (36,) अब्दुल शहाबाज अब्दुल रज्जाक (26) हरपुरनगर बड़ा ताजबाग व शाहजेब खान ऊर्फ धवन (24) को रविवार को पुलिस ने न्यायालय के समक्ष पेश किया। न्यायालय ने तीनों आरोपियों को 5 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। इन आरोपियों के खिलाफ सक्करदरा थाने में मामला दर्ज किया गया है। 

यह है प्रकरण

पुलिस सूत्रों के अनुसार, ऑटो डीलर इमरान सिद्धिकी ने एक वर्ष पहले मुख्य आरोपी रफीक खान पर तलवार से हमला कर उसकी हत्या का प्रयास किया था। इसी बात का बदला लेने के लिए रफीक ने गत शनिवार को इमरान पर गोलियां चलाई। इमरान को मेडिकल के ट्रामा केयर सेंटर में भर्ती किया गया है। इमरान पर उस समय आरोपी रफीक ने फायर किया, जब वह अपने मित्र  गुलामअली उर्फ राजा के साथ चामट चौक परिसर में बंटीभाई को एक ट्रक बेचने की बातचीत कर रहा था। घटना के करीब दो घंटे बाद अपराध शाखा पुलिस की यूनिट 4 ने आरोपी रफीक और शहबाज खान को धर-दबोचा। फरार आराेपी शहाबाज को भी पुलिस ने रविवार को धर-दबोचा। उसके बाद तीनों आरोपियों को न्यायालय में पेश किया गया। न्यायालय ने तीनों आरोपियों को 13 मार्च तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया है।

कमेंट करें
CoFyT