ग्रीन प्लैनेट सोसायटी: नागपुर जिले की हवा प्रदूषित, अमेरिकी उपग्रह ने की पुष्टि

November 28th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। ग्रीन प्लैनेट सोसायटी ने दावा किया कि नागपुर जिले में वायु प्रदूषण का स्तर तय मानकों से ज्यादा है। अमेरिका द्वारा उपग्रह से किए जाने वाले वायु प्रदूषण पंजीयन से यह बात सामने आने का दावा सोसायटी की तरफ से किया गया है। उपग्रह से वायु प्रदूषण निर्देशांक (एक्यूआई) की गणना करने की व्यवस्था नहीं है। अमेरिका हर दिन उपग्रह से एक्यूआई की गणना करता है। उपग्रह ने 27 नवंबर को सुबह 11 बजे जो गणना की, उसके मुताबिक नागपुर शहर व ग्रामीण में प्रदूषण का स्तर तय मानकों से ज्यादा था। अमेरिका की अर्थ डाटा.नासा.कॉम व टेरा.नासा.कॉम पर जाकर भी नागपुर जिले में प्रदूषण का स्तर कितना है, यह देखा जा सकता है। इसके लिए संबंधित व्यक्ति को पहले यहां पंजीयन करना होगा। अमेरिका हर दिन वर्ल्ड एयर क्वालिटी इंडेक्ट लेता है। 101 से 151 प्रदूषण निर्देशांक (एक्यूआई) स्वास्थ्य के लिए हानिकारक माना जाता है। इस संबंध में नागपुर स्थित प्रदूषण नियंत्रण मंडल के प्रादेशिक अधिकारी व सहायक अधिकारी से संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन प्रतिसाद नहीं मिला। 

प्रदूषण बढ़ गया है, प्रदूषण मंडल से बात करेंगे 

प्रा. सुरेश चोपणे, अध्यक्ष, ग्रीन प्लैनेट सोसायटी के मुताबिक जिले की हवा प्रदूषित हो गई है। अमेरिका द्वारा उपग्रह से लिए गए एक्यूआई में यह खुलासा हुआ है। प्रदूषण तय मानकों से ज्यादा है, जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। शहर के अलावा गांवों की हवा भी प्रदूषित हुई है। वाहनों की तेजी से बढ़ती संख्या, रास्तों से उड़ने वाली धूल-मिट्टी व कचरा जलाने के कारण प्रदूषण बढ़ रहा है। प्रदूषण नियंत्रण में लाने के लिए प्रदूषण नियंत्रण मंडल व पर्यावरण पर काम करने वाली एजेंसियों से चर्चा की जाएगी। 

खबरें और भी हैं...