दैनिक भास्कर हिंदी: राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव में नागपुर को मिले दो पुरस्कार

December 31st, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। छत्तीसगढ़ के रायपुर में हुए तीन दिवसीय राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव में दक्षिण मध्य सांस्कृतिक केंद्र नागपुर की ओर से प्रस्तुत भगोरिया और तारपा नृत्य को पुरस्कृत किया गया है। महाराष्ट्र के प्रसिद्ध तारपा नृत्य को छत्तीसगढ़ प्रशासन की ओर से तीन लाख रुपए का द्वितीय पुरस्कार और मध्यप्रदेश के भील जनजाति द्वारा प्रस्तुत भगोरिया नृत्य को 25 हजार रुपए का सांत्वना पुरस्कार प्रदान किया गया। तारपा नृत्य वारली जनजाति द्वारा किया जाने वाला नृत्य है। 27 से 29 दिसंबर तक आयोजित तीन दिवसीय नृत्य महोत्सव में 25 राज्यों एंव केंद्र शासित प्रदेशों के साथ 6 देशों के 1350 से अधिक कलाकारों ने भाग लिया था। महोत्सव में 39 जनजातीय प्रतिभागी दलों ने 43 से अधिक शैली में प्रस्तुति दी। नागपुर केंद्र की सफलता के लिए दक्षिण मध्य सांस्कृतिक केंद्र के निदेशक डॉ. दीपक खिरवडकर ने दोनों दलों के कलाकारों एवं महोत्सव में केंद्र के प्रतिनिधि को बधाई दी है।

सीबीएसई ने जारी किए निर्देश: परीक्षार्थियों के लिए 75% अटेंडेंस जरूरी
केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद (सीबीएसई) ने सभी विद्यालयों को निर्देश जारी कर कहा है कि फरवरी 2020 में शुरू होने वाली बोर्ड परीक्षाओं में उन्हीं परीक्षार्थियों को शामिल किया जाएगा, जिनकी अटेंडेंस 75 फीसदी से अधिक हो। इससे पहले सीबीएसई बोर्ड ने जुलाई 2018 में इस संबंध में नोटिफिकेशन जारी किया था, जिसे अब दोबारा जारी किया गया है। इसमें बताया गया है कि जिन परीक्षार्थियों की हाजिरी 75 फीसदी से कम है, उन्हें किन-किन कारणों से परीक्षा में शामिल होने की अनुमति दी जा सकती है। बोर्ड ने सभी स्कूलों से अपने यहां के छात्रों की वार्षिक उपस्थिति प्रतिशत भेजने को कहा है, जिससे कि कम उपस्थिति वाले परीक्षार्थियों को परीक्षा में बैठने से रोका जा सके। स्कूल को यह भी बताना होगा कि छात्र की उपस्थिति किन कारणों से कम हुई है। उल्लेखनीय है कि सीबीएसई की 10वीं और 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाएं 15 फरवरी से होंगी। पहले दिन दोनों कक्षाओं के परीक्षार्थियों के लिए वोकेशनल विषय की परीक्षाएं होंगी।