comScore

चुनाव आयोग की मदद करेगी नागपुर यूनिवर्सिटी, चुनाव से जुड़े विषयों पर मिलेगा मार्गदर्शन

चुनाव आयोग की मदद करेगी नागपुर यूनिवर्सिटी, चुनाव से जुड़े विषयों पर मिलेगा मार्गदर्शन

डिजिटल डेस्क,नागपुर। राज्य चुनाव आयोग ने प्रदेश में चुनावों के प्रति जागरुकता बढ़ाने के उद्देश्य से 'इंस्टीट्यूट ऑफ डेमोक्रेसी एंड इलेक्शन फॉर गुड गर्वनेंस' की स्थापना करने का निर्णय लिया है। इसकी मैनेजिंग बॉडी में चुनाव आयोग ने राष्ट्रसंत तुकड़ोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय को भी जगह दी है। नागपुर यूनिवर्सिटी इस मैनेजिंग बॉडी का आजीवन सदस्य रहेगा। यह संस्थान प्रदेश के स्थानीय निकाय के चुनावों को और बेहतर बनाने का कार्य करेगा, साथ ही स्थनीय चुनाव से जुड़ी रिसर्च, चुनाव अधिकारियों के प्रशिक्षण, चुनौतियों के समाधान और अंतरराष्ट्रीय संस्थानों के मददनीस का काम करेगा।

अन्य दो विश्वविद्यालय भी जुड़े

चुनाव आयोग ने मैनेजिंग बॉडी में नागपुर विश्वविद्यालय के अलावा मुंबई विश्वविद्यालय, कोल्हापुर विश्वविद्यालय, एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म जैसे संस्थानों को भी जोड़ा है। राज्य चुनाव आयुक्त जगेश्वर सहारिया इसके अध्यक्ष है। इस संस्थान के लिए राज्य सरकार ने 5 करोड़ रुपए की आर्थिक मदद की है। नागपुर विश्वविद्यालय ने भी मैनेजमेंट काउंसिल की मंजूरी के बाद इसमें 5 लाख रुपए की मदद की है। अन्य दो विश्वविद्यालयों ने भी इसमें आर्थिक सहयोग किया है।

मैनेजिंग बॉडी की बैठक में शामिल हुए कुलगुरु

मैनेजिंग बॉडी की पहली बैठक हाल ही में मुंबई में संपन्न हुई। जिसमें यूनिवर्सिटी कुलगुरु डॉ.सिद्धार्थविनायक काणे भी शामिल हुए । राज्य चुनाव आयोग द्वारा जारी आर्डर के अनुसार उन्हें महसूस हुआ कि प्रदेश के स्थानीय निकाय चुनावों के प्रति संबंधित वर्गों की विशेष रूचि नहीं है। साथ ही इन चुनावों को लेकर समाज में बेहत कम जानकारी और जागरुकता है। निर्वाचन अधिकारियों के प्रशिक्षण और आचार संहिता के सख्ती से पालन की भी सख्त जरुरत है। अभी तक देश में कोई भी प्रशिक्षण संस्था स्थानीय निकाय चुनावों पर काम नहीं कर रही थी। ऐसे में राज्य चुनाव आयोग ने इस संस्थान का गठन किया है। इसकी रू रेखा का विस्तार होना अभी बाकी है।

कमेंट करें
A6fua