दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर यूनिवर्सिटी सभी पीजी विभागों को जोड़ेगी, डिजिटाइजेशन की दिशा में उठाया कदम

January 18th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। राष्ट्रसंत तुकड़ोजी महाराज विश्वविद्यालय ने डिजिटाइजेशन की ओर एक बड़ा कदम उठाने का निर्णय लिया है। नागपुर विवि अपने सभी पोस्ट ग्रेजुएट विभागों के रिकॉर्ड का डिजिटाइजेशन करने जा रहा है। इससे एक क्लिक पर विवि के पास हर विभाग की जरूरी जानकारी होगी। नैक मूल्यांकन के दौरान डेटा जुटाने में नागपुर विवि को भारी मशक्कत करनी पड़ी। विभागों के पास जरूरी डेटा की कमीं, आपस में समन्वय का अभाव जैसी समस्याओं के चलते न केवल सेल्फ स्टडी रिपोर्ट तैयार करने में देरी हुई, बल्कि विवि प्रशासन को लगता है कि, विवि की अनेक खूबियां नैक के समक्ष नहीं रखी जा सकीं, क्योंकि उनके पास उस तरीके का डेटा तैयार नहीं था। इसी से सबक लेकर अब डिजिटाइजेशन की दिशा में नागपुर विवि एक और कदम बढ़ा रहा है।

सात वर्ष पूर्व अग्रवाल समिति ने की थी सिफारिश

उल्लेखनीय है कि, करीब सात वर्ष पूर्व राजीव अग्रवाल समिति ने आईटी रिफॉर्म की सिफारिशें की थीं। जिसके बाद नागपुर विवि धीरे-धीरे डिजिटाइजेशन को अपना रहा है। इसके पूर्व नागपुर विश्वविद्यालय ने विद्यार्थियों को ऑनलाइन फीस पेमेंट की सुविधा दी है। वहीं परीक्षा का सारा कामकाज भी ऑनलाइन मोड में ही पूरा किया जाता है। अब विवि अपने विविध विभागों को अापस में जोड़ने जा रहा है।

बॉक्स….

इनका कहना है

डॉ. सुभाष चौधरी, कुलगुुरु के मुताबिक नैक मूल्यांकन के दौरान एक बात हमारी समझ में आई कि, हमें अपने विविध विभागों की सारी जानकारी एक छत के नीचे लाने की जरूरत है, इसलिए अब रिकॉर्ड का डिजिटाइजेशन करके एक क्लिक पर सारी जानकारी उपलब्ध करने के लिए प्रणाली विकसित की जा रही है।