comScore

नागपुर वाटर एप लॉन्च, पानी का बिल आएगा ईमेल पर, दूर होगी कंज्यूमर की कंपलेंट

नागपुर वाटर एप लॉन्च, पानी का बिल आएगा ईमेल पर, दूर होगी कंज्यूमर की कंपलेंट

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शहर में जलापूर्ति करने वाली आरेंज सिटी वर्कस उपभोक्ताओं की सुविधा और शीघ्र बिलिंग के लिए अब उपभोक्ताओं को ई-मेल पर भी बिल भेजेगी। उपभोक्ताओं की शिकायत रही है कि उन्हें कई बार बिल नहीं मिलता या फिर देर से मिलता है। इस समस्या से निपटने के लिए नई सुविधा प्रदान की गई है।  इसके अलावा ओसीडब्ल्यू ने उपभोक्ता स्वंमसेवा पोर्टल भी उपलब्ध कराया है। इस पर उपभोक्ता अपने पानी के बिल को तो देख व भर सकेगा, साथ ही अन्य जानकारी भी पा सकेगा। उसकी पानी से संबंधी शिकायत भी यहां पंजीकृत हो सकेंगी। साथ ही शिकायत पर क्या कार्रवाई हुई यह जानकारी भी पोर्टल पर ही मिलेगी। इस सेवा का लोकार्पण हाल ही में ओसीडब्ल्यू के कार्यकारी अधिकारी संजय राय ने किया। इसके अलावा ओसीडब्ल्यू ने नागपुर वाटर नाम से एक मोबाइल एप भी लांच किया है। लोकार्पण के अवसर पर निदेशक के.एम.पी. सिंह, राजेश कालरा, वरिष्ठ अधिकारी विनोद गुप्ता, मलोय चौधरी, प्रवीण शरण व उपभोक्ता विभाग के मोहम्मद अयाज व अमोल पांडे उपस्थित थे। 

स्वाइप मशीन भी उपलब्ध
ओसीडब्ल्यू ने कैशलेस व्यवहारों को बढ़ावा देने की दृष्टि से सभी जोन कार्यालयों में स्वाइप मशीनें भी लगाई हैं। इससे उपभोक्ता कार्ड के माध्यम से भी पानी का बिल भर सकेंगे। साथ ही ई-वालेट से भी भुगतान की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। 

अतिरिक्त देयक स्वीकृत केंद्र बने
ओसी डब्ल्यू ने जोन कार्यालयों के अलावा अतिरिक्त देयक स्वीकृत केंद्रों शुरू किए हैं। यह त्रिमूर्ति नगर जलकुंभ, दाभा जलकुंभ, खरबी जलकुंभ, शांतिनगर जलकुंभ व सुभान नगर जलकुंभ में शुरू किए गए हैं। उपभोक्ता यहां भी पानी का बिल भर सकते हैं। 

बुद्धिस्ट थिएटर का विमोचन
प्रबुद्ध नाट्य परिषद की ओर से बुद्धिस्ट थियेटर नामक त्रिमासिक पत्रिका का विमोचन किया गया। कार्यक्रम का आयोजन कास्ट्राईब महासंघ के स्थापना दिवस पर आयोजित किया गया था। कार्यक्रम की अध्यक्षता कास्ट्राईब महासंघ के अध्यक्ष अरुण गाडे ने की। पुमुख अतिथियों में आंबेडकरी विचारवंत इंजि. राहुल वानखेडे, पूर्व न्यायधीश भारत चंद्रीकापुरे, सीए अश्विन कापसे, महासंघ के उपाध्यक्ष भैय्यासाहब शेलारे उपस्थित थे।

परिषद के अध्यक्ष संजय सायरे ने त्रिमासिक पत्रिका के संबंध में उपस्थितों को अवगत कराया। उन्होंने कहा कि पत्रिका का उद्देश्य डा. बाबासाहब आंबेडकर की संकल्पना प्रबुद्ध भारत का निर्माण करने के लिए सांस्कृतिक  आंदोलन को खड़ा करने के लिए ही इस त्रैमासिक पत्रिका को प्रकाशित किया जा रहा है। कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए सिद्धार्थ उके, अशोक पाटील, रवि पोथारे, महेंद्र मानके, एड. सोनिया गजभिये आदि ने प्रयास किए। 

कमेंट करें
7HfRB