दैनिक भास्कर हिंदी: कोरोना मरीजों के लिए नौसेना ने खोले अपने अस्पताल, आम लोगों का होगा इलाज 

April 29th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। कोरोना मरीजों के इलाज में सरकारों को आ रही परेशानी को देखते हुए नौसेना ने भी आम शहरियों के इलाज में मदद के लिए हाथ बढ़ाया है। भारतीय नौसेना की  पश्चिमी कमांड ने कोरोना से लड़ने में नागरिक प्रशासन को मदद के लिए तीन नौसेना अस्पताल आम लोगों के लिए खोलने का फैसला किया है। मुंबई स्थित आईएनएसएस संधानी, गोवा स्थित आईएनएचएस जीवंती और करवार स्थित आईएनएचएस पतंजलि में ऑक्सीजन बेड तैयार रखे गए हैं जिन्हें आम लोगों के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। यही नहीं यहां ऐसी व्यवस्था भी हैं जहां प्रवासी मजदूरों को रखकर उनकी बुनियादी जरूरतों को पूरा किया जा सकता है।  

नौसेना के प्रवक्ता ने बताया कि मुंबई में नौसेना के परिसर में इस तरह की भी व्यवस्था की गई है जहां प्रवासी मजदूरों को भी रखा जा सकता है। जहां उनकी बुनियादी जरूरतों के लिए पर्याप्त व्यवस्था की जाएगी जिससे वे अपने गृहनगर वापस लौटने को मजबूर न हों। नौेसेना द्वारा तैयार की गई इन सुविधाओं की जानकारी नागरिक प्रशासन को दे दी गई है जिससे जरूरत के मुताबिक वे इसके इस्तेमाल का फैसला कर सकें। करवार में 1500 प्रवासी मजदूरों को रखने, उनके राशन, बुनियादी स्वास्थ्य सेवा की व्यवस्था है। बता दें कि पतंजलि पहला अस्पताल था जिसमें कोरोना की पहली लहर के दौरान आम नागरिकों का इलाज किया गया था।

इस बार भी अस्पताल जरूरत के मुताबिक मरीजों के इलाज के लिए तैयार है। कोरोना की पहली लहर के दौरान गोवा में तैनात नौसैनिकों ने लोगों के लिए खाने पीने की व्यवस्था की थी। इस बार गोवा के जीवंती अस्पताल में आम नागरिकों के लिए ऑक्सीजन बेड भी उपलब्ध है। नौसेना ने गुजरात प्रशासन को भी जरूरी उपकरणों के परिवहन समेत हर संभव मदद की पेशकश की है। जरूरत के मुताबिक नौसेना अपने अस्पालों में आम लोगों को टीका देने की पर भी विचार कर रही है।

 

खबरें और भी हैं...