दैनिक भास्कर हिंदी: महाराष्ट्र समेत दस राज्यों की समीक्षा बैठक, गृहमंत्री शाह बोले- नक्सली गतिविधियों में पहले से काफी गिरावट

August 26th, 2019

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। गृह मंत्री अमित शाह ने दावा किया है कि नक्सली गतिविधियों में पहले से काफी गिरावट आयी है। उन्होंने कहा कि पिछले साल नक्सल प्रभावित केवल 60 जिलों में ही वामपंथी उग्रवाद की घटनाएं दर्ज की गई है और इस कमी में राज्य सरकार  और राज्य तथा केन्द्रीय बलों के संयुक्त प्रयासों से सफलता प्राप्त हुई है। गृहमंत्री ने सोमवार को यहां महाराष्ट्र समेत दस राज्यों में नक्सली गतिविधियों को लेकर एक समीक्षा बैठक की। इस दौरान केन्द्र सरकार के कई मंत्री, प्रभावित राज्य के मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव तथा केन्द्र व राज्यों के आला अधिकारी मौजूद थे। बैठक में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस शामिल नहीं हुए।

राज्य के प्रतिनिधि के तौर पर मुख्य सचिव अजोय मेहता बैठक में शामिल रहे। अमित शाह ने नक्सली गतिविधियों में कमी आने का जिक्र करते हुए कहा कि जहां 2009 में वामपंथी उग्रवाद की 2258 घटनाए हुई वहीं 2018 में घटकर 833 हुई है। उन्होने सभी मुख्यमंत्रियों से कहा कि हमें समन्वय के साथ काम करना होगा तभी नक्सल समस्या का निर्मूलन किया जा सकता है।

अमित शाह ने कहा कि इसे समाप्त करने के लिए नक्सलियों को उपलब्ध होने वाले धन को रोकना आधारभूत मंत्र है और इसके द्वारा उनरे रहने, खाने-पीने, घूमने, हथियारों की खरीद, ट्रेनिंग आदि व्यवस्थाओं को रोका जा सकता है। उन्होने यह भी कहा कि सुरक्षा बलों को माओवादियों से निपटने के लिए सक्रिय रणनीति बनाने का समय आ गया है। उन्होने कहा कि वामपंथी उग्रवाद के अंतर्गत जो निर्दोष फंसे हैं, उन्हें उग्रवाद की धारा से मुख्यधारा में वापस लाना जरुरी है। इसके लिए उनके आत्मसर्पण को बढावा देना चाहिए। इस दौरान सभी नक्सल प्रभावित राज्यों के मुख्यमंत्रियों से नक्सल समस्या के समाधान को लेकर उनकी योजनाओं को जाना। जिस पर सभी मुख्यमंत्रियों ने अपनी-अपनी योजनाओं के बारे में जानकारी दी।

खबरें और भी हैं...