comScore

सीएम उद्धव ने कहा - कोरोना की अगली लहर रोकने स्वास्थ्य सुविधाओं को मजबूत करना जरुरी

सीएम उद्धव ने कहा - कोरोना की अगली लहर रोकने स्वास्थ्य सुविधाओं को मजबूत करना जरुरी

डिजिटल डेस्क, मुंबई। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है कि जुलाई के बाद बारिश के कारण कई महामारी फैलने लगती है। बारिश की बामारियों की चुनौती के साथ कोरोना की तीसरी, चौथी और उसके बाद आने वाली लहर को रोकने और लोगों के इलाज के लिए राज्य की स्वास्थ्य सुविधाओं को अधिक मजबूत करने का प्रयास किया जाएगा। पेटीएम फाउंडेशन की ओर से राज्य में ऑक्सीजन निर्माण संयंत्र, ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन और टीकाकरण के लिए राज्य सरकार को सहयोग किया जाएगा। इसके मद्देनजर मंगलवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक की। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऑक्सीजन अब दवाई बन गई है। राज्य में ऑक्सीजन का निर्माण 1500 मीट्रिक टन तक बढ़ाने की योजना है। उन्होंने कहा कि कोरोना की पहली लहर में उपलब्ध कराई गई सुविधाएं अधूरी पड़ने लगी हैं। इसलिए अब टीकाकरण शुरू होने के बाद भी स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाने पर जोर दिया जाएगा। कोविड केयर सेंटर की संख्या बढ़ाई जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में विकास होता रहेगा। लेकिन लोगों की जान बचाना सही मायनों में विकास है। हम जिस विकास के पीछे दौड़ते हैं उस विकास ने हमें मुंह दिखाने लायक नहीं छोड़ा है। अब हमें ऑक्सीजन के पीछे दौड़ना पड़ रहा है। कोरोना ने हम लोगों को बहुत कुछ सबक सिखाया है। इसलिए आने वाली चुनौतियों का सामना करने के लिए अभी से तैयारी शुरू की गई है। जबकि राज्य के मुख्य सचिव सीताराम कुंटे ने कहा कि राज्य को ऑक्सीजन उपलब्धता में स्वयंपूर्ण बनाने के लिए मिशन ऑक्सीजन स्वावलंबन के जरिए विभिन्न प्रयास किए जा रहे हैं। वहीं पेटीएम फाउंडेशन के विजय शेखर-शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री की ओर से कोरोना से निपटने के लिए किए गए प्रयास प्रशंसनीय हैं। मुख्मयंत्री के दूरदृष्टि से शुरू किए गए प्रयास देश के लिए मार्गदर्शक हैं। 

पेटीएम फाउंडेशन की मदद

पेटीएम फाउंडेशन ने राज्य में ऑक्सीजन उत्पादन और आपूर्ति, टीकाकरण और टीके की उपलब्धता के लिए आवश्यक सीएसआर निधि के लिए भार वहन करेगा। टीकाकरण के लिए मुंबई और पुणे में बड़ी कंपनियों के कार्यालय का परिसर और मानव संसाधन भी देगा। 
 

कमेंट करें
2EU4z