दैनिक भास्कर हिंदी: मनपा कर्मचारी सहकारी बैंक के संचालक मंडल को नोटिस

March 9th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  नागपुर महानगर पालिक कर्मचारी सहकारी बैंक कर्मचारी भर्ती में धांधली की याचिका फौजदारी न्यायालय में दायर की गई है। अदालत ने राखी स्वामी की याचिका स्वीकृत कर बैंक के सभी संचालकों को नाेटिस जारी किया है।  मनपा कर्मचारी सहकारी बैंक में वर्ष 2018 में कर्मचारी भर्ती की गई थी। भर्ती के लिए 25 मार्च-2018 को ऑनलाइन परीक्षा लेकर परीक्षा परिणाम घोषित किए गए। गुणवत्ता सूची में सभी उम्मीदवार बैंक संचालकों के रिश्तेदारों के नाम देख परीक्षा में धांधली के आरोप लगे। बैंक संचालक मंडल पर धोखाधड़ी के विरुद्ध परीक्षार्थी राखी स्वामी ने अदालत का दरवाजा खटखटाया। अदालत ने याचिका स्वीकृत कर बैंक के सभी संचालकों को नोटिस जारी किया है। 

इन संचालकों को नोटिस
नोटिस जारी किए संचालकाें में मुख्य कार्यकारी अधिकारी संजय श्रृंगारपवार, अध्यक्ष विजय काथवटे, उपाध्यक्ष राजकुमार यादव, संचालक शशिकांत आदमने, दिलीप देवगड़े, ईश्वर मेश्राम, दिलीप कुमार, श्यामसुंदर चौधरी, नितीन झाड़े, राधेश्याम निमजे, प्रदीप डाखोले, राजकुमार कनाठे, राजेंद्र ठाकरे, विट्ठल क्षीरसागर, दत्तात्रय डहाके, धनराज मेंढेकर, गौतम पाटील, राजू भिवगड़े, सुशील यादव, प्रतिभा सिरिया, कल्पना चहांदे व सुरेंद्र टिंगने का समावेश है। सुरेंद्र टिंगने 31 अक्टूबर-2019 को सेवानिवृत्त हो जाने से उन्हें नोटिस नहीं मिलने की जानकारी याचिकाकर्ता ने दी है।

किसी ने नहीं सुनी फरियाद
अदालत का दरवाजा खटखटाने से पहले याचिकाकर्ता ने बैंक प्रबंधक, भारतीय रिजर्व बैंक, सहकारी बैंक पर्यवेक्षक, मनपा आयुक्त, पुलिस आयुक्त, कोतवाली पुलिस थाना, रिश्वत प्रतिबंधक दल उपायुक्त, आर्थिक अपराध शाखा उपायुक्त, मुख्यमंत्री कार्यालय, मुख्यमंत्री समाधान शिविर आदि से शिकायत कर न्याय की गुहार लगाई। किसी भी जगह से सकारात्मक प्रतिसाद नहीं मिलने पर आखिरकार अदालत का दरवाजा खटखटाया है।