comScore

अब महाराष्ट्र आने वाले प्रवासी मजदूरों को कराना होगा रजिस्ट्रेशन, बनेगा इंडस्ट्रियल लेबर ब्यूरो

अब महाराष्ट्र आने वाले प्रवासी मजदूरों को कराना होगा रजिस्ट्रेशन, बनेगा इंडस्ट्रियल लेबर ब्यूरो

डिजिटल डेस्क, मुंबई। कोरोना संक्रमण के चलते महाराष्ट्र से गए मजदूरों को फिर से राज्य में आने पर रजिस्ट्रेशन कराना पड़ेगा। महाराष्ट्र में दूसरे राज्यों के श्रमिकों के आने पर कोई रोकटोक नहीं होगी, लेकिन अब उनका बकायदा पंजीकरण करान होगा। राज्य सरकार स्थानीय युवकों को रोजगार देने के लिए इंडस्ट्रियल लेबर ब्यूरो का गठन करेगी। महाराष्ट्र के उद्योगमंत्री सुभाष देसाई ने कहा है कि अब दूसरे राज्यों से जो भी श्रमिक आएंगे, उनका स्वागत है लेकिन यहां आने पर उन सभी का पंजीकरण होगा। देसाई की माने तो दूसरे राज्यों के श्रमिकों का पंजीकरण एक क्रांतिकारी कदम साबित होगा। इससे यह भी पता चल सकेगा कि राज्य में कितने परप्रांतीय श्रमिक हैं। देसाई ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते उद्योग जगत संकट में है। राज्य के उद्योगों को इस संकट से बाहर निकालने का प्रयास किया जा रहा है। राज्य में अब तक 60 हजार उद्योग शुरू हो चुके हैं, जिससे 15 लाख मजदूर काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कई कंपनियां मजदूरों की कमी की वजह से नहीं चल पा रही हैं।  

बनेगा इंडस्ट्रियल लेबर ब्यूरो

सुभाष देसाई ने कहा कि कोरोना संकट के चलते परप्रांतीय श्रमिकों के चले जाने से महाराष्ट्र की कंपनियों में मजदूरों की कमीं हो गई है। राज्य सरकार की ओर से स्थानीय भूमिपुत्रों को इस अवसर का लाभ लेने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। इसके मद्देनजर औद्योगिक कामगार ब्यूरो का गठन भी किया जा रहा है जो इस महीने के अंत तक काम करने लगेगा। लेबर ब्यूरो के लिए एक वेब पोर्टल तैयार किया जा रहा है जिसके जरिए कुशल और अकुशल युवा अपना पंजीयन करवा सकते है। इससे युवाओं को कंपनियों में नौकरी दी जा सकेगी।
 

कमेंट करें
DCq8A