दैनिक भास्कर हिंदी: मनपा के 200 से  ज्यादा अधिकारी-कर्मचारी 4 घंटे तक एक साथ रहे लक्ष्मीनगर जोन

March 24th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  पुलिस आयुक्त डा. भूषणकुमार उपाध्याय ने शहर में धारा 144 लागू कर 5 से ज्यादा लोगों के एक साथ खड़े रहने पर पाबंदी लगाने के बावजूद मनपा के 200 से  ज्यादा अधिकारी-कर्मचारी 4 घंटे तक एक साथ लक्ष्मीनगर जोन में रहे। कोरोना संदिग्धों को ढूंढ़ने निकले सैकड़ों कर्मचारी, अधिकारियों द्वारा यह लापरवाही करने से लोगों में नाराजगी है। जागरुक नागरिक ने इसकी सूचना पुलिस नियंत्रण कक्ष को दी। पुलिस यहां दोपहर डेढ़ बजे पहुंची और इसके ठीक पहले कर्मचारी यहां से चले गए। 

जानकारी इकट्ठा कर रहे हैं 
शहर में जो 4 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं, वे लक्ष्मीनगर व धरमपेठ इलाके में रहते हैं। मनपा आयुक्त ने इन रोगियों के घर से 3 किमी के दायरे में रहनेवाले लोगों के बारे में जानकारी जुटाने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग को दिए थे। घर-घर जाकर जानकारी इकट्ठा करनी है। मनपा स्वास्थ्य विभाग ने इसके लिए 16 टीमें बनाई। एक टीम में अधिकतम 26 लोग थे। सभी कर्मचारियों को सुबह 8 बजे मनपा संचालित इंदिरा गांधी अस्पताल बुलाया गया। यहां से सभी अधिकारी-कर्मचारी लक्ष्मी नगर जोन पहुंचे। यहां सभी टीमों को काम का वितरण होना था। काम के वितरण में समय हुआ आैर जनता कर्फ्यू होने के बावजूद 200 से ज्यादा कर्मचारी, अधिकारी एक साथ रहे। करीब 4 घंटे तक कर्मचारी समूह में रहे। मनपा की यह लापरवाही शहरवासियों पर भारी पड़ सकती है। 

सभी में 3-3 फीट का फासला था
सर्वे में लगे अधिकारी, कर्मचारी मास्क पहने थे। 223 लोग इस काम में लगे हैं आैर काम का बंटवारा करते समय कर्मचारियों के बीच 3-3 फीट का फासला था। एक साथ ज्यादा लोग ज्यादा समय तक समूह में खड़े नहीं थे। 15-15 लोगों को बुलाकर जरूरी इंस्ट्रक्शन दिए गए। सारे नियम-शर्तों का पालन हुआ। जनता कर्फ्यू होने से पुलिस पेट्रोलिंग जारी थी, इसलिए वहां पुलिस पहुंच सकती है।  टीम के सभी सदस्य स्वस्थ हैं आैर दिन रात लोगों की सेवा में लगे है। 
-डा. भावना सोनकुसरे,  स्वास्थ्य उपसंचालक मनपा.