दैनिक भास्कर हिंदी: पटोले ने कहा - मोदी पर दर्ज हो आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला

October 3rd, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। अखिल भारतीय किसान खेत मजदूर कांग्रेस के अध्यक्ष एवं पूर्व सांसद नाना पटोले ने मोदी सरकार पर आरोप लगाया है कि इस सरकार के सत्ता में आने के बाद किसान आत्महत्या की घटनाएं ज्यादा बढ़ी है। उन्होने मांग की है कि प्रधानमंत्री मोदी पर किसानों को आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज होना चाहिए। पटोले ने कहा कि सरकार कर्जमाफी पर किसानों को लगातार गुमराह कर रही है। हालत यह हो गई है कि कर्ज के जाल में फंसे किसान आत्महत्या करने पर मजबूर हो रहे हैं। उन्होने कहा कि महाराष्ट्र हो या उत्तरप्रदेश, हर जगह प्रदेश की भाजपा सरकारों ने कर्जमाफी के नाम पर किसानों के साथ छल किया है। आज स्थिति यह हो गई है कि महाराष्ट्र सहित देश के दूसरे हिस्सों में बैंकों ने किसानों को कर्ज देना बंद कर दिया है। ऐसे में पहले से कर्ज में डूबे किसान फिर से साहूकारों के चंगुल में फंस रहे हैं। मोदी सरकार के खिलाफ किसानों को एकजुट करने में जुटे नाना पटोले ने कहा कि सत्ता में आने से पहले नरेन्द्र मोदी ने किसानों से बड़े-बड़े वादे किए थे। परंतु उन वादों को पूरा नहीं किया गया। ऐसे में किसानों को अपनी जान देने के अलावा कोई दूसरा रास्ता नहीं दिख रहा है। नाना पटोले ने मांग की कि प्रधानमंत्री मोदी पर किसानों को आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया जाना चाहिए।

‘किसानों को पकड़ा दी झूठे वादों की टोकरी’
कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने मोदी सरकार पर भोले भाले किसानों को छलने का आरोप लगाया है। उन्होने यहां कहा कि कल गांधी जयंती पर भारतीय किसान यूनियन के नेतृत्व में आए किसानों पर लाठियां, अश्रु गैस, वाटर कैनन चला रही मोदी-योगी सरकार ने आनन फानन में रातों रात एक बार फिर किसानों को ‘झूठे वादों की टोकरी’ पकड़ा दी ताकि आंदोलन खत्म हो जाए। पर सवाल यह है कि ‘राजनैतिक लॉलीपॉप’ व ‘वादों के विश्वाघात’ के सहारे भाजपाई सरकारें कब तक किसानों को छलती रहेंगी। सरकार पर किसानों से जुड़े 10 सवाल दागते हुए सुरजेवाला ने कहा कि अब समय आ गया है कि प्रधानमंत्री मोदी देश के अन्नदाता को जवाब दें।
 

खबरें और भी हैं...