राज्यसभा में कांग्रेस का प्रदर्शन: पटोले बोले, महाराष्ट्र का अपमान करने वाले प्रधानमंत्री मोदी मांगे माफी

February 8th, 2022

डिजिटल डेस्क, मुंबई। लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कांग्रेस की तीखी आलोचना के बाद महाराष्ट्र की राजनीति गरमा गई है। सोमवार को पीएम ने कोरोना काल में महाराष्ट्र से श्रमिकों को उनके राज्यों में भेजे जाने को कोरोना फैलने का बड़ा कारण बताया था। इस पर पलटवार करते हुए मंगलवार को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने यह कह कर महाराष्ट्र का अपमान किया है। इसके लिए उन्हें महाराष्ट्र की जनता से माफी मांगनी चाहिए। पीएम के आरोपों के खिलाफ बुधवार को राज्यभर में कांग्रेस कार्यकर्ता बीजेपी कार्यालयों के सामने प्रदर्शन करेंगे। 

कांग्रेस नेता ने कहा कि प्रधानमंत्री ने महाराष्ट्र की 12 करोड़ जनता के साथ छत्रपति शिवाजी महाराज के महाराष्ट्र का अपमान किया है। इसके लिए मोदी को महाराष्ट्र की जनता से माफी मांगनी चाहिए। इस मांग को लेकर बुधवार को राज्यभर में बीजेपी कार्यालयों के सामने प्रदर्शन किया जाएगा। पटोले ने कहा कि महाराष्ट्र भाजपा के नेताओं में यदि अपने राज्य के प्रति थोडी बहुत आस्था है तो वे पीएम के आरोपों का निषेध करें। अन्यथा महाराष्ट्र के इतिहास में उनका उल्लेख महाराष्ट्र द्रोही के तौर पर होगा। प्रदेश कांग्रेस कार्यालय गांधी भवन में पटोले ने कहा कि महाराष्ट्र की जनता ने भाजपा को सत्ता से क्या दूर किया। भाजपा के नेता गली से लेकर दिल्ली तक महाराष्ट्र द्वेष में जुट गए हैं। महाराष्ट्र को बदनाम करने का कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं।   

प्रधानमंत्री पद की शोभा का तो ख्याल करें मोदीः यशोमति ठाकुर

राज्य की महिला व बाल कल्याण मंत्री यशोमति ठाकुर ने संसद में दिए गए प्रधानमंत्री मोदी के भाषण की आलोचना करते हुए कहा कि उन्हें कम से कम प्रधानमंत्री के पद की गरिमा का ख्याल रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि गोवा मुक्ति संग्राम में कौन लड़ा और क्या हुआ, यह सब इतिहास में दर्ज है। बोलने स पहले मोदी को एक बार उसका अध्ययन करना चाहिए। पीएम की माने तो देश में जो कुछ विकास हुआ बीते सात वर्षों में ही हुआ बाकी 70 वर्षों में कुछ नहीं हुआ। लेकिन जनता को सारी बातें मालूम हैं। 

पीएम ने किया उत्तरभारतीयों का घोर अपमानः सावंत

प्रदेश कांग्रेस महासचिव सचिन सावंत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसद में दिए भाषण को महाराष्ट्र के उत्तरभारतीयों का घोर अपमान बताया है। सावंत ने कहा कि कांग्रेस को बदनाम करने के चक्कर में मोदी ने उत्तरभारतीयों का घोर अपमान किया है। कांग्रेस नेता ने कहा कि कोरोना महामारी की पहली लहर के दौरान मुंबई के उत्तरभारतीयों से कांग्रेस के सामाजिक संबंधों की वजह से उन्हें सकुशल उनके घर भेजने के लिए पार्टी ने व्यवस्था की थी, पर प्रधानमंत्री उत्तरभारतीय श्रमिकों को कोरोना का सुपर स्प्रेडर बता रहे हैं। उत्तर प्रदेश विधानसभा और मुंबई मनपा चुनाव में भाजपा को इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी। सावंत ने कहा कि प्रधानमंत्री का यह बयान बेहद गैर जिम्मेदाराना है कि उत्तरभारतीयों ने यहां से अपने प्रदेशों में जाकर कोरोना फैलाया। सावंत ने सवाल किया कि इस पर मुंबई के उत्तरभारतीय नेता चुप क्यों हैं। मोदी को उत्तरभारतीयों से माफी मांगनी चाहिए। उत्तरभारतीय इस अपमान को भूलेंगे नहीं।