दैनिक भास्कर हिंदी: जबलपुर में 50 और पिपरिया में 30 रुपए में मिलेगा प्लेटफॉर्म टिकट

March 5th, 2021

रेल मंडल ने गुरुवार को जारी किए आदेश यात्रियों और उनके परिजनों की जेब पर बढ़ेगा बोझ
डिजिटल डेस्क जबलपुर । अ
पने परिजनों व मित्रों को जबलपुर और मदन महल रेलवे स्टेशन पर छोडऩे के लिए आए लोग आज से 50 रुपए में प्लेटफॉर्म टिकट खरीद सकेंगे। वहीं जबलपुर रेल मंडल के अन्य रेलवे स्टेशनों नरसिंहपुर, पिपरिया, कटनी, मुड़वारा, मैहर, सतना, रीवा, दमोह और सागर के यात्री 30 रुपए में प्लेटफॉर्म खरीद पाएंगे। बाकी छोटे स्टेशनों पर प्लेटफॉर्म टिकट 10 रुपए में मिलेगा। जबलपुर रेल मंडल ने गुरुवार की रात नए नियम लागू कर दिए।  काफी समय से यात्रियों के परिजनों ने रेल अधिकारियों से शिकायतें करते हुए कहा था कि स्टेशन के भीतर प्रवेश की अनुमति नहीं होने के कारण वो बैगेज लेकर यात्री को ट्रेन में नहीं बिठा पा रहे हैं। वहीं ट्रेनों से बाहर से आने वाले यात्री भी स्टेशन के भीतर सामान आदि में सहयोग के लिए अपने परिजनों की मदद नहीं ले पा रहे हैं। वहीं यात्रियों और उनके परिजनों ने कहा कि रेल प्रशासन के इस निर्णय से उनकी जेबों पर बोझ बढ़ जाएगा।
यात्रियों के लिए स्टेशन पर शुरू होगी रिटायरिंग रूम की सुविधा
कोरोनाकाल के कई चरण बीत जाने के बाद ट्रेनों के पटरी पर लौट आने के बाद रेल मंत्रालय यात्रियों को दी जाने वाली सुविधाओं को एक बार फिर उपलब्ध कराने के प्रयास में जुट गया है। इसी कड़ी में रेल मंत्रालय ने पमरे सहित देश के अन्य रेल जोनों के प्रमुखों को पत्र लिखकर रेलवे स्टेशन पर उपलब्ध रिटायरिंग रूम की सुविधा को फिर से शुरू करने की राय माँगी है। जिसमें अपने जोन के हालातों का विश्लेषण करने के बाद रिपोर्ट पेश करने को कहा गया है ताकि यात्रियों को रिटायरिंग रूम की सुविधा मिल सके। रेलवे के सूत्रों का कहना है िक रेल मंत्रालय पहले ही आईआरसीटीसी द्वारा संचालित रेल यात्री निवास को शुरू करने की अनुमति दे चुका है। अब जिस तेजी के साथ हालात सामान्य हो रहे हैं, उन्हें देखते हुए रेल मंत्रालय ने जोन प्रमुखों को स्थानीय हालातों पर गौर करने के बाद स्थानीय सरकारों के नियमों का पालन करते हुए रिटायरिंग रूम की सुविधा को फिर से यात्रियों के लिए उपलब्ध कराने संबंधित राय माँगी है। मंत्रालय के पत्र में कहा गया है िक देश में करीब 70 प्रतिशत स्पेशल, एक्सप्रेस और पैसेंजर ट्रेनों का संचालन हो रहा है, ऐसे में चरणबद्ध तरीके से रिटायरिंग रूम की सुविधा को शुरू करना जरूरी हो गया है इसलिए जोन और मंडलों के हालात देखने के बाद रिपोर्ट भेजकर इस व्यवस्था को शुरू करने की तैयारी की जा सकती है। 
 

खबरें और भी हैं...