उत्तरप्रदेश: शरद पूर्णिमा के मौके पर पीएम मोदी ने किया कुशीनगर अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे का उद्घाटन , करोड़ों की दी सौगात

October 20th, 2021

हाईलाइट

  • बौध्दों की धार्मिक नगरी कुशीनगर

डिजिटल डेस्क,लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को उत्तर प्रदेश के कुशीनगर को अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे का उद्घाटन किया है। इस मौके पर कई विदेशी राजदूत और श्रीलंका के एक स्पेशल प्रतिनिधिमंडल भी मौजूद रहे। कुशीनगर में प्रधानमंत्री एक सार्वजनिक कार्यक्रम में विभिन्न विकास परियोजनाओं की नीव रखी।यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ और मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने पीएम नरेंद्र मोदी को गौतम बुद्ध की मूर्तियां गिफ्ट कीं।

पीएम मोदी ने कहा कि भारत एथेनॉल को लेकर आज जिस नीति पर चल रहा है उसका बहुत बड़ा लाभ उत्तर प्रदेश के किसानों को मिलने वाला है। गन्ने से पैदा होने वाला बायो फ्यूल विदेश से आयात होने वाले कच्चे तेल का एक अहम विकल्प  है। मोदी योगी वाली डबल इंजन की सरकार यहां किसानों से खरीद के नए रिकॉर्ड स्थापित कर रही है। यूपी के किसानों के ही बैंक अकाउंट में अभी तक लगभग 80,000 करोड़ रुपये उपज की खरीद के पहुंच चुके हैं। पीएम किसान सम्मान निधि से यूपी के किसानों के बैंक खाते में 37,000 करोड़ रु से अधिक राशि जमा की जा चुकी है।
यूपी ने देश के दिए सबसे अधिक प्रधानमंत्री
पीएम ने कहा कि नई सड़कों, नए रेल मार्गों, नए मेडिकल कॉलेजों, बिजली और पानी से जुड़े इंफ्रास्ट्रक्चर का तेज गति से विकास हुआ है। इसे सीएम योगी की पूरी टीम ने जमीन पर उतारकर दिखा दियाहै। यूपी के बारे में एक बात हमेशा कही जाती है कि ये एक ऐसा प्रदेश है जिसने देश को सबसे ज्यादा प्रधानमंत्री दिए। ये यूपी की खूबी है ।

पीएम स्वामित्व योजना

मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार ने एक और योजना शुरू की है जो भविष्य में यूपी के ग्रामीण इलाकों में समृद्धि का नया द्वार खोलने वाली है। इस योजना का नाम है- पीएम स्वामित्व योजना।

पीएम मोदी  ने कहा यूपी के कण-कण में है ऊर्जा
पीएम मोदी ने कहा कि ये ऐसी धरती है जिसका इतिहास कालातीत है, जिसका योगदान कालातीत है। इस भूमि पर मर्यादापुरुष भगवान राम ने अवतार लिया, भगवान श्रीकृष्ण ने अवतार लिया। जैन धर्म के 24 में 18 तीर्थंकर, उत्तर प्रदेश में ही अवतरित हुए थे। आप मध्यकाल को देखें तो तुलसीदास और कबीरदास जैसे युगनायकों ने भी इसी मिट्टी में जन्म लिया था। संत रविदास जैसे समाजसुधारक को जन्म देने का सौभाग्य भी इसी प्रदेश को मिला है। यूपी एक ऐसा प्रदेश है जहां पग-पग पर तीर्थ हैं, और कण-कण में ऊर्जा है।
कुशीनगर बौध्द धर्म लोगों के लिए सबसे प्रमुख तीर्थ स्थलों में माना जाता है क्योंकि भगवान बुद्ध को महापरिनिर्वाण की प्राप्ति यहीं हुई थी। यह चार प्रमुख बौद्ध सर्किटों में से एक है। प्रधानमंत्री महापरिनिर्वाण मंदिर में अभिधम्म दिवस के अवसर पर आयोजित एक कार्यक्रम में भी भाग लेंगे। प्रधानमंत्री कुशीनगर के बरवा जंगल में एक सार्वजनिक समारोह में हिस्सा लेंगे। इस मौके पर पीएम मोदी 280 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से बनने वाले राजकीय मेडिकल कॉलेज, कुशीनगर की आधारशिला रखेंगे। इस मेडिकल कॉलेज में 500 बेड का अस्पताल होगा और शैक्षणिक सत्र 2022-2023 में एमबीबीएस पाठ्यक्रम में सौ  छात्रों का प्रवेश होगा, प्रधान मंत्री यहां 180 करोड़ रुपये से अधिक की 12 विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास भी करेंगे।

यूपी में बौध्द धर्म का सियासी महत्व

पूरे उत्तरप्रदेश में बौध्द धर्म मानने वाले लोग रहते है। उत्तरप्रदेश राज्य में बौध्द धर्म के लोगों की जनसंख्या 25 लाख के करीब होने का अनुमान है। राज्य में दलित, ओबीसी, पाल औऱ अन्य जातियों के लोगों ने बौध्द धर्म को अपनाया है। डॉ अंबेडकर की अनुयायी के चलते बीएसपी पार्टी का वोट वेंक बौध्द धर्म है। अभी तक बीएसपी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने भले ही बौध्दधर्म नहीं अपनाया है, लेकिन वो बौध्द धर्म को अहमियत देती रही है।  इस उद्घाटन में कोलंबो से हवाईअड्डे पर एक फ्लाईट उतरेगी, जिसमें 100 से ज्यादा बौद्ध भिक्षुओं और गणमान्य व्यक्तियों का श्रीलंकाई प्रतिनिधिमंडल और 12 सदस्यीय पवित्र अवशेष दल भी शामिल होंगे। उद्घाटन की उड़ान प्रदर्शनी के लिए बुद्ध के अवशेष भी लाए जाएंगे। श्रीलंका के प्रतिनिधिमंडल में श्रीलंका में बौद्ध धर्म के सभी चार निकात (आदेशों) के अनुनायक (उप प्रमुख) असगीरिया, अमरपुरा, रामन्या, मालवत्ता साथ ही नमल राजपक्षे के नेतृत्व वाली श्रीलंका सरकार के पांच मंत्री शामिल होंगे।

पर्यटन में 20 प्रतिशत तक की वृद्धि होने की उम्मीद है।
एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, हवाईअड्डा दो करोड़ से अधिक की आबादी की सेवा करेगा क्योंकि हवाई अड्डे के पास लगभग 10-15 जिलों का एक इलाका है और यह पूर्वी उत्तर प्रदेश और पश्चिमी/उत्तरी बिहार के भागों की बड़ी प्रवासी आबादी के लिए एक बड़ा समर्थन होगा। इससे केले, स्ट्रॉबेरी और मशरूम जैसे बागवानी उत्पादों के निर्यात के अवसरों को भी बढ़ावा मिलेगा।

कुशीनगर को करोड़ों की सौगात

260 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित और 3,600 वर्ग मीटर में फैला यह हवाई अड्डा धार्मिक पर्यटन के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। हवाई अड्डा उत्तर प्रदेश के साथ-साथ बिहार के आसपास के जिलों में भी काम करेगा।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हवाई अड्डा पूर्वी उत्तर प्रदेश में रोजगार और पर्यटन के अवसर लाएगा। हवाई अड्डे को व्यस्त समय के दौरान 300 यात्रियों को संभालने के लिए सुसज्जित किया गया है। यह श्रीलंका, जापान, ताइवान, दक्षिण कोरिया, चीन, थाईलैंड, वियतनाम और सिंगापुर जैसे देशों को सीधी हवाई संपर्क प्रदान करेगा। यह एक अंतर्राष्ट्रीय बौद्ध तीर्थस्थल है और बौद्ध सर्किट का केंद्र बिंदु है, जिसमें लुंबिनी, सारनाथ और गया के अन्य स्थल शामिल हैं।
उद्घाटन समारोह में उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मौजूद है।

 

खबरें और भी हैं...