दैनिक भास्कर हिंदी: पुलिस संरक्षण में बिकता रहा नाइजीरियन ड्रग्स, आबू के जेल जाते ही कहीं नहीं मिल रही पुड़िया

January 29th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शहर में ड्रग्स का कारोबार पुलिस की छत्रछाया में चलता रहा। ड्रग्स के पनपते कारोबार में आबू खान का सबसे बड़ा हाथ था, यह तो सामने आ चुका है पर उससे भी बड़ी बात यह है कि उसी आबू के मोबाइल पर एक साल में 1200 से अधिक बार खुद 10 पुलिसकर्मियों ने कॉल किए। इससे शक गहराता है। यह भी साबित होता है कि शहर में विदेशी नशा का कारोबार फलने-फूलने में ‘पुलिस’ ने ही साथ दिया। अगर ऐसा साबित होता है तो फिर व्यवस्था पर यह गंभीर सवालिया निशान है।  

स्कूल,कालेज तक पहुंचने लगे थे 
आबू की गिरफ्तारी के बाद से ड्रग्स की पुड़िया कहीं नहीं मिल रही है। आबू के साथी स्कूल और कॉलेज तक पहुंच बनाने लगे थे। उनके इस कारोबार के चलते युवा वर्ग ड्रग्स की लत का शिकार हो रहा था। सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार, आबू खान नागपुर में ड्रग्स के कारोबार में लिप्त रह चुका है। वह वीडियो कॉलिंग के जरिए नाइजीरिया में बात करता था। उसके बाद नाइजीरियन उसे मुंबई में ड्रग्स भेजते थे। वीडियो कालिंग का रिकार्ड अपराध शाखा पुलिस ने निकाला तो आबू खान से जुडे़ नाइजीरियन यानी की विदेशी ड्रग्स माफिया के नाम भी सामने आ जाएंगे। पुलिस ने आबू के मोबाइल फोन का वीडियो कॉलिंग का रिकार्ड खंगाला तो कई पुलिस वाले भी उससे क्या- क्या बातें करते थे, इस बात का खुलासा हो जाएगा। अपराध शाखा पुलिस आबू के मोबाइल फोन का सीडीआर निकाल चुकी है। उससे संपर्क में बने रहने वाले पुलिसकर्मियों के नाम का खुलासा हो चुका है। 

आबू के संपर्क में रहे पुलिसकर्मी
अपराध शाखा पुलिस कार्यालय में आयोजित पत्र-परिषद में आबू से संबंध रखने वाले पुलिस कर्मियों के बारे में पूछे गए सवाल के जवाब में उपायुक्त संभाजी कदम ने बताया कि 10 पुलिसकर्मियों के मोबाइल का सीडीआर निकला है। इसका रिकार्ड पुलिस आयुक्त के पास भेजा जाएगा। आगे की कार्रवाई पुलिस आयुक्त तय करेंगे। 

इन पुलिसकर्मियों ने कई  बार किया आबू को फोन 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, आबू के मोबाइल पर एक साल में 1200 से अधिक बार 10 पुलिसकर्मियों ने कॉल किया। जब आबू के मोबाइल फोन का कॉल डिटेल निकाला गया, तब अपराध शाखा पुलिस विभाग के अधिकारी भी दंग रह गए। जो पुलिसकर्मी आबू के मोबाइल पर बार-बार फोन किया करते थे, उनमें जयंता, श्याम, शिपने, मनोज, साजिद, नीलेश, संजय, मनीष, मिलिंद व अन्य पुलिसकर्मियों के नाम शामिल होने की जानकारी सूत्रों ने दी है। सूत्र बताते हैं कि जयंता 800 से अधिक बार कॉल कर चुका है। श्याम ने 180 बार से अधिक, शिपने ने 200 बार से अधिक, मनोज ने 28 बार से अधिक, साजिद ने 20 बार व नीलेश ने 10 बार से अधिक आबू से बात की है।