दैनिक भास्कर हिंदी: आने वाले 5-10 सालों में विदेशों की नदियों जैसी दिखेगी प्रदूषित नदियां - जावडेकर

July 26th, 2019

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने शुक्रवार को लोकसभा में दावा किया है कि आने वाले 5-10 सालों में देश की प्रदूषित नदियां साफ होंगी। कहा कि इसके बाद यह सारी नदियां, जैसी हम विदेशों में देखते हैं, वैसी देखने को मिलेंगी। केन्द्रीय मंत्री जावडेकर ने कहा कि 72 सालों बाद भी आज वास्तविकता यह है कि 62 प्रतिशत सीवेज का गंदा पानी नदियों में जाता है। इसलिए आज नदिया दूषित हो गई है। उन्होने कहा कि इसका एक मुख्य कारण यह भी है कि जिस गति से आबादी बढ़ी है, उस गित से सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट नही बढ़े है। इस बैकलॉग को भरने के लिए सरकार ने पिछले 5 सालों में सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट तैयार करने के लिए 58 हजार करोड़ रुपये खर्च किए है।

जावडेकर ने कहा कि पिछले पांच सालों में 9 करोड़ पायलट प्रोजेक्ट्स कार्यान्वित किए गए। इसी का परिणाम है कि अब नदियों के पानी में कम गंदगी जा रही है और आने वाले 5-10 सालों में यह सारी नदियां विदेशों की नदियों जैसी दिखेंगी। दरअसल, शिवसेना सांसद प्रतापराव जाधव ने लोकसभा में प्रदूषित नदियों को लेकर सवाल पूछा था। उन्होने जानना चाहा था कि पिछले पांच वर्षों के दौरान सरकार ने नदियों को प्रदूषित होने से बचाने के लिए जो कदम उठाए है और धन व्यय किया है, क्या सरकार को इसके सकारात्मक परिणाम मिले है। इसके जवाब में केन्द्रीय मंत्री जावडेकर ने यह जानकारी दी।   

    


 

खबरें और भी हैं...