दैनिक भास्कर हिंदी: राणे के इलाके में शाह ने साधा शिवसेना पर निशाना, बोले - बाला साहेब के सिद्धांतो को नदी में प्रवाहित किया

February 7th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। भाजपा भी यदि शिवसेना की राह पर चली होती तो आज महाराष्ट्र में शिवसेना का अस्तित्व नहीं रहता। यह बात केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कही है। शाह ने रविवार को कोंकण के सिंधुदुर्ग में पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे के मेडिकल कॉलेज के उद्धाटन समारोह को संबोधित करते हुए शिवसेना पर जोरदार हमला बोला। शाह ने कहा कि महाराष्ट्र की तीन पहियों वाली सरकार तीन दिशा में जा रही है। वरिष्ठ भाजपा नेता ने कहा कि बाला साहेब के सारे सिद्धांतों को तापी नदी में प्रवाहित कर सत्ता स्थापित की गई है। उन्होंने कहा कि बंद दरवाजे के पीछे शिवसेना से कोई चर्चा नहीं हुई थी। आज मैं महाराष्ट्र की जनता को बता देना चाहता हूं कि आप ने जो जनादेश दिया था, उसका अनादर करते हुए सत्ता की लालसा में जनादेश के खिलाफ सरकार बनी है। जनादेश यह था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व में महाराष्ट्र में भाजपा-शिवसेना की सरकार बने। शाह ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का नाम लिए बगैर कहा कि वे कह रहे हैं कि हमनें वचन तोड़ा। पर हम वचन तोड़ने नहीं उसका पालन करने वाले लोग हैं। 

बंद कमरे में नहीं किया था कोई वादा

शाह ने कहा कि मैंने शिवसेना से बंद कमरे में कोई वादा नहीं किया था। मैं बंद कमरे की राजनीति नहीं करता। जो करना होता है खुलेआम करता हूं। हम वादे तोड़ने वाले लोग नहीं हैं। बिहार में नीतीश हमसे ज्यादा सीट लड़ते थे। हमारी सीटे ज्यादा आई। नीतीश जी ने कहा कि भाजपा की सीटें ज्यादा हैं, इस लिए आप अपना सीएम बनाओ पर हमनें वादे के अनुसार नीतीश जी को ही मुख्यमंत्री बनाया। पूर्व भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि जब विधानसभा चुनाव के दौरान उद्धव जी के साथ जनसभा संबोधित करते हुए मैंने कहा कि देवेंद्र जी हमारे अगले मुख्यमंत्री बनेंगे, उस वक्त आप ने इसका विरोध क्यों नहीं किया। शाह ने कहा कि उन्होंने (उद्धव ठाकरे) डरते-डरते धारा 370 समाप्ति का स्वागत किया।

डरने वाले नहीं हैं भाजपा कार्यकर्ता

शाह ने कहा कि भाजपा समर्थकों के चीनी मिलो को निशाना बनाया जा रहा है। पर हमारे कार्यकर्ता डरने वाले नहीं हैं। आप जिस रास्ते पर चल रहे हो, यदि देवेंद्र जी भी सरकार में रहते उसी रास्ते पर चले होते तो आप की पार्टी का अस्तित्व नहीं बचा होता पर हम उस रास्ते पर चलना नहीं चाहते। हम देशभक्ति की राह पर चलते हैं। 

राणे लडाकू नेता

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि नारायण राणे अन्याय के खिलाफ लड़ने वाले लडाकू नेता हैं। इसी लिए उनकी राजनीतिक यात्रा थोड़ी टेड़ीमेढी है। उन्होंने कहा कि भाजपा में उन्हें पूरा सम्मान मिलेगा। इस मौके पर विधानसभा में विपक्ष के नेता दवेंद्र फडवीस ने राणे को दबंग नेता बताते हुए कहा कि वे अपने सपनों को पूरा करने के लिए दिन रात मेहनत करने वाले व्यक्ति हैं। 

दो साल में बढ़े 20 एम्स  

इस दौरान उन्होंने कोरोना महामारी से मुकाबले के लिए मोदी सरकार की तारीफ की। शाह ने कहा कि मुझे भी कोरोना हुआ था जिससे कुछ लोगों को खुशी भी हुई। उन्होंने कहा कि हमारी दो वैक्सिन आ गई है, चार निर्माणाधिन हैं। सबकुछ सही रहा तो हम दुनिया के 70 फीसदी लोगों तक कोरोना वैक्सिन पहुंचाएंगे। शाह ने कहा कि अभी तक देश में 2 अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) थे। मोदी सरकार ने 22 नए एम्स के लिए मंजूरी दी। 18 एम्स बन गए हैं। 70 वर्षों में दो एम्स बनें थे पर हमारी सरकार ने दो साल में 20 एम्स बढ़ाए।  
 

नारायण राणे की प्रार्थना- शाह के दौरे के बाद राज्य सरकार गिर जाए

इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री तथा भाजपा सांसद नारायण राणे ने कहा था कि मेरी प्रार्थना है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का महाराष्ट्र दौरा प्रदेश की महाविकास आघाड़ी सरकार गिरने के लिए शुभ हो। उन्होंने कहा था कि कांग्रेस के नए प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले को पता नहीं है कि पार्टी को नंबर वन बनाने के लिए कितना वक्त लगेगा। राणे ने दावा किया कि प्रदेश और केंद्र में भाजपा की सबसे बड़ी पार्टी होगी। एक सवाल के जवाब में राणे ने कहा कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने हिंदुत्व के मुद्दे को त्याग दिया है। उन्होंने कहा कि मुंबई मनपा के अगले साल होने वाले चुनाव में भाजपा का महापौर बनेगा। 

खबरें और भी हैं...