दैनिक भास्कर हिंदी: दलाल को प्रापर्टी डीलर ने बंधक बनाया, हाथ-पैर बांध कर की पिटाई 

September 25th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। दलाल को अगवा कर प्रापर्टी डीलर ने दो दिन गोदाम में बंधक बनाकर रखा। प्रकरण को लेन-देन के विवाद में अंजाम दिया गया है। मानकापुर थाने में आरोपी प्रापर्टी डीलर और उसके साथियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है। प्रापर्टी डीलर को गिरफ्तार कर मंगलवार को अदालत में पेश किया गया। श्रीकृष्ण नगर निवासी विजय राऊत (40) महानगरपालिका व अन्य कामों की दलाली करता है, जबकि आरोपी बंटी उर्फ शिवाजी लक्ष्मण महाजन (45) फरस चौक, मानकापुर निवासी प्रापर्टी डीलिंग का काम करता है। गोरेवाड़ा में उसका गोदाम भी है। कुछ महीने पहले विजय ने घर का टैक्स कम कर देने का झांसा देकर बंटी से तीन हजार रुपए लिए थे। इसके बाद भी उसने टैक्स कम करवाकर नहीं दिया। विजय के टालमटोल रवैये से बंटी को एहसास हो गया था कि उससे कुछ काम नहीं होने वाला है। उसने रुपए ऐंठ लिए हैं। बंटी ने कई बार विजय को अपने तीस हजार रुपए वापस करने के लिए कहा, लेकिन वह टालमटोल करता रहा। 

जमकर की पिटाई

घटना के दिन गोरेवाड़ा में अचानक बंटी की मुलाकात विजय से हुई। उस समय भी रुपए लौटाने की बात को लेकर वह उसे संतोषजनक जवाब नहीं दे पाया। इसके बाद बंटी ने एक साथी की मदद से विजय को अगवा कर लिया।  गोरेवाड़ा परिसर स्थित अपने गोदाम में ले जाने के बाद बंटी ने विजय को बंधक बना लिया। रस्सी से उसके हाथ-पैर बांध दिए। लकड़ी के डंडे और लात-घूंसों से जमकर उसकी पिटाई की। तीन हजार रुपए की वसूली के लिए विजय से उसकी अंगूठी छीन ली गई और उसे 21 हजार रुपए में बेचकर अपनी रकम की वसूली की। इसके बाद विजय को छोड़ दिया। यह बात 14 और 15 तारीख की है। डरे-सहमे विजय ने चुप्पी साध ली थी। इस बीच घटित प्रकरण को लेकर परिजनों से सलाह-मश्विरा कर सोमवार को वह थाने गया। बंटी और उसके साथियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज करवाया। प्रकरण दर्ज होते ही पुलिस सक्रिय हो गई। उसे िगरफ्तार कर थाने लाया गया। मंगलवार की दोपहर को अदालत में पेश कर उसे पीसीआर में भेज दिया गया है। सहायक उपनिरीक्षक विजय नाईक मामले की जांच कर रहे हैं।