दैनिक भास्कर हिंदी: रेलवे की ऑनलाइन सेवाएं, मोबाइल एप और सन्देश सुविधा हिंदी में होगी शुरू

July 7th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। भारतीय रेलवे की आनलाईन सेवाएं व सोशल मीड़िया पर भेजे जाने वाले संदेश अब हिंदी में भी होंगे। आरटीआई के जरिए केंद्रीय संस्थानों में हिंदी के इस्तेमाल की लड़ाई लड़ रही हिंदी सेवा विधी जैन के लगातार कोशिशों से यह संभव हुआ है। भारतीय रेल व खानपान-पर्यटन निगम यानि आईआरसीटीसी ने श्रीमति जैन को यह जानकारी दी है।

विधि जैन ने राजभाषा नियमावली का हवाला देते हुए रेल मंत्रालय से शिकायत की थी सोशल मीडिया और डिजिटल प्लेटफार्म पर सिर्फ अंग्रेजी में जवाब देकर राजभाषा कानून का उलंघन किया जा रहा है। जैन का कहना था कि रेल मंत्रालय व आरआरसीटी द्वारा यदि 5 हजार ट्विट अंग्रेजी में किए जाते हैं तो सिर्फ एक ट्विट हिंदी में होता है।

जैन की यह भी शिकायत थी कि आनलाईन टिकट आरक्षित करने पर मोबाईल पर संदेश केवल अंग्रेजी में भेजे जाते हैं यह 95 फीसदी अंग्रेजी न जानने वालों के साथ अन्याय है। उनकी इस शिकायत के जवाब में आईआरसीटीसी ने कहा है कि ईमेल हिंदी में भेजने की शुरुआत कर दी गई है जबकि एसएमएस भी हिंदी में भेजने के लिए काम चल रहा है।

जल्द ही हिंदी में भी मोबाईल संदेश भेजे जा सकेंगे। आरआईसीटीसी की पर्यटन संबंधी वेबसाईट को भी अंग्रेजी के साथ-साथ हिंदी में भी बनाया जाएगा। रेलगाडी के आरक्षण के लिए एफटीआर वेबसाईट को भी हिंदी में उपलब्ध कराने का काम चल रहा है। विधि ने 29 मई 2018 को संयुक्त सचिव रेलमंत्रालय को पत्र लिख कर शिकायत की थी कि भारतीय रेल भाषाई आधार पर यात्रियों के साथ भेदभाव कर रहा है। इस संबंध में उन्होंने इसके पहले भी कई पत्र लिखे थे।