दैनिक भास्कर हिंदी: ब्लॉक के दौरान 31 जुलाई तक कटनी-सतना-कटनी के बीच चलेगी विशेष ट्रेन

July 14th, 2018

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। पश्चिम मध्य रेल के जबलपुर-कटनी खंड पर विद्युतिकरण से संबंधित कार्य किए जाने के कारण 13 जुलाई से 31 जुलाई तक का ब्लॉक/मेगा ब्लॉक लिया गया है। जिसके कारण इटारसी-सतना-इटारसी पैसेंजर को सिहोरा रोड स्टेशन तक चलाया जा रहा है। दोबारा वहीं से पुन: प्रारंभ किया जा रहा है। इस दौरान रेल प्रशासन के द्वारा कटनी से सतना के बीच यात्रियों को स्पेशल गाड़ी की सुविधा प्रदान की जा रही है। जिसमें विशेष गाड़ी सतना-कटनी पैसेन्जर, संख्या 51672 के समय एवं सतना से कटनी के बीच चलेगी तथा विशेष गाड़ी संख्या 51671 ए कटनी-सतना पैसेन्जर, गाड़ी संख्या 51671 के निर्धारित समय से 1.30 घंटे बाद कटनी से सतना के बीच चलेगी।

6 ट्रेनों में आज लगेंगे अतिरिक्त कोच
रेल प्रशासन ने यात्रियों की सुविधा के लिए पश्चिम मध्य रेलवे से चलने वाली विभिन्न ट्रेनों में आज अतिरिक्त कोच शनिवार को लगाने का फैसला किया है। जिसमें गाड़ी संख्या 51701जबलपुर-रीवा शटल 1 वातानुकूलित कुर्सीयान, 11466 जबलपुर-सोमनाथ एक्सप्रेस 1शयनयान द्वितीय श्रेणी, 12189 जबलपुर-निजामुद्दीन एक्सप्रेस 1 शयनयान द्वितीय श्रेणी, 12160 जबलपुर-अमरावती एक्सप्रेस 1 वातानुकूलित कुर्सीयान, 19807 कोटा-जयपुर एक्सप्रेस 1 शयनयान द्वितीय श्रेणी तथा 22981 कोटा-श्रीगंगानगर एक्सप्रेस में 1 शयनयान द्वितीय श्रेणी कोच लगेगा।

पानी भरने से रेलवे का सिग्नल फेल
गोंदिया ब्रॉडगेज परियोजना के तहत बनकर तैयार हुई नई रेल लाइन के सगड़ा स्टेशन के पास शुक्रवार की सुबह अचानक रेलवे का सिग्नल सिस्टम फेल हो गया। जिसकी वजह से जबलपुर-नैनपुर-जबलपुर के बीच रेल संचालन करीब दो घंटे तक बाधित रहा। रेलवे के सूत्रों के अनुसार सिग्नल एंड टेलीकम्युनिकेशन (S&T) विभाग द्वारा ट्रेक पर सिग्नल सिस्टम लगाया गया था, जिसमें बारिश का पानी भरने की वजह से खराबी आ गई और सिग्नल सिस्टम ने काम करना बंद कर दिया।

सिग्नल बंद होने की सूचना सगड़ा रेलवे स्टेशन के स्टेशन मास्टर एमपी सिंह ने S&T विभाग को दी। जिसके बाद स्टाफ ने करीब दो घंटे तक काम करने के बाद सुधार कार्य पूरा किया। इस घटना से मदनमहल (जबलपुर) से नैनपुर व नैनपुर से मदनमहल के बीच चलने वाली पैसेंजर ट्रेन को पिछले स्टेशनों पर रोक दिया गया। जिससे इस ट्रेन में यात्रा करने वाले अप-डाउनर्स व अन्य यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। श्री सिंह ने बताया कि इस ट्रेक पर प्रतिदिन 3 अप और डाउन पैसेंजर ट्रेन चलती हैं।