दैनिक भास्कर हिंदी: बिना टिकट यात्रियों से चार गुना फाइन वसूलने के मूड में हैं रेलवे

June 29th, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। बिना टिकट लिए महानगर की लोकल ट्रेनों में यात्रा करने वालों से चार गुना अधिक जुर्माना राशि वसूली जा सकती है। पश्चिम रेलवे चाहती है कि इसे 250 रुपए से बढ़ा कर एक हजार रुपए किया जाए। जिससे घाटे मे चल रही उपनगरीय सेवाओं को थोड़ा लाभ हो सके। पश्चिम रेलवे ने इस तरह का प्रस्ताव तैयार कर रेलवे बोर्ड को भेजा है। मुंबई की लोकल ट्रेने मे प्रतिदिन 60 लाख से ज्यादा लोग सफर करते हैं। यात्रियों की संख्या के लिहाज से टिकट निरीक्षकों की संख्या बेहद कम है। इस साल केवल अप्रैल महीने में ही पश्चिम रेलवे ने बिना टिकट यात्रा करने वालों से 15.34 करोड़ रुपए वसूले थे।

फिलहाल पश्चिम रेलवे में रोजाना करीब 1300 और मध्य रेलवे में 3000 हजार लोग बगैर टिकट यात्रा करते पकड़े जाते हैं। पश्चिम रेलवे को इससे 5 लाख और मध्य रेलवे को 15 लाख की आय होती है। इसके पहले 2002 में जुर्माने की राशि 50 रुपए से बढ़ा कर 250 रुपए किया गया था। यदि रेलवे बोर्ड ने इस प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया तो यह फैसला पश्चिम रेलवे के साथ मध्य रेलले के लोकल ट्रेन यात्रियों के लिए भी लागू होगा। 

पश्चिम रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि जुर्माने की राशि ज्यादा न होने के कारण बहुत से यात्री टिकट नहीं खरीदते और सोचते हैं कि पकड़े भी गए तो 250 रुपए बतौर जुर्माना भर देंगे। उन्हें जुर्माने की राशि रोज की मुफ्त की सैर से कम ही लगती है।