दैनिक भास्कर हिंदी: राम नाईक कोरोना संक्रमित, नागपुर में 113 मरीजों ने तोड़ा दम, विदर्भ में बढ़े आंकड़े

April 19th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। उत्तर प्रदेश के पूर्व राज्यपाल राम नाईक के कोरोना संक्रमित हो गए हैं। उनके कार्यालय द्वारा सोमवार को जारी एक बयान में बताया गया है कि नाईक फिलहाल अपने घर में क्वारेंटाईन हैं। उनके स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है। नाईक को बुखार आने के बाद उनकी जांच करायी गयी थी। नाईक प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्ववाली, केंद्र की राजग सरकार में मंत्री रह चुके हैं।

नागपुर जिले में 113 लोगों की मौत, 6364 नए मरीज

उधर सोमवार को नागपुर जिले में 113 लोगों की मौत हो गई। तो 6364 नए मरीज पॉजिटिव मिले हैं। जांच में ग्रामीण के 1780, शहर के 4578 और बाहरी जिले के 6 शामिल हैं। शहर-ग्रामीण मिलाकर कुल टेस्टिंग 17,978 हुई।

यवतमाल में एक ही दिन में 37 ने गंवाई जान

विदर्भ में कोरोना से हालात निरंतर बिगड़ते ही जा रहे हैं। सोमवार को विदर्भ के सात जिलों में 145 लोगों ने कोरोना से जूझते हुए दम तोड़ दिया। इनमें से अकेले यवतमाल में ही 37 मरीज पाए गए हैं। यवतमाल में अब तक का मृतकों का यह सबसे बड़ा आंकड़ा है। इसके अलावा अन्य जिलों में भी कोरोना से मरनेवालों की संख्या निरंतर बढ़ती जा रही है। यवतमाल जिले में सोमवार को सर्वाधिक 37 लोगों की कोरोना संक्रमण के चलते मौत हो गई। इसके अलावा 810 लोग पॉजिटिव भी पाए गए। अमरावती में भी 16 मरीजों की मृत्यु के साथ 593 नए मरीज मिले हैं। वर्धा जिले में 16 ने कोरोना से जूझते हुए जान गंवा दी तथा 567 नए मरीज भी पाए गए। चंद्रपुर जिले में 22 मरीजों की मृत्यु के साथ 1213 लोग पॉजिटिव पाए गए। गड़चिरोली जिले में 12 लोग कोरोना के आगे जीवन की जंग हार गए। 305 लोग संक्रमित भी पाए गए।  भंडारा जिले में 833 लोग पॉजिटिव पाए गए तथा 21 लोगों की जान चली गई। गोंदिया जिले में भी 21 लोगों की मृत्यु के साथ 520 नए संक्रमित पाए गए। 

बेड न मिलने से दो लोगों ने वाहनों में ही तोड़ा दम 

चंद्रपुर में बेड न मिलने के कारण दो कोरोना के मरीजों में से एक महिला की एम्बुलेंस में तथा एक अन्य मरीज की कार में ही मृत्यु हो गई। सोमवार सुबह शहर के नगीनाबाग निवासी प्रवीण दुर्गे (40)को लेकर उसके परिजन अनेक अस्पतालों में घूमे परंतु बेड न मिलने से उसकी कार में ही मृत्यु हो गई। दूसरी घटना भद्रावती निवासी 60 वर्षीय महिला के साथ हुई। उसे गंभीर स्थिति में सरकारी अस्पतालों के साथ ही निजी अस्पतालों में भी ले जाया गया लेकिन कहीं भी बेड न होने से अंतत: उसके प्राण पखेरू उड़ गए। 

एक ही दिन मां-बेटे को लील गया कोरोना 

गोंदिया जिले की देवरी तहसील के टेकाबेदर में कोरोना ने एक ही दिन में मां-बेटे की जान ले ली। घटना रविवार 18 अप्रैल की बताई जा रही है। 35 वर्षीय युवक का 15 अप्रैल से देवरी के सरकारी अस्पताल में इलाज चल रहा था, तथा उसकी मां घर में ही आईसोलेट थी। रविवार को अचानक उसकी तबियत बिगड़ गई और दोपहर को 2 बजे के दौरान उसने घर में ही दम तोड़ दिया। दूसरी ओर युवक की तबियत भी नाजुक हो गई। उसे गोंदिया रेफर किया जा रहा था, लेकिन बीच राह में ही मौत हो गई।

ढाई लाख के बिल के लिए शव देने से इंकार 

चंद्रपुर के निजी अस्पताल में 41 वर्षीय कोरोना संक्रमित की मृत्यु होने के बाद डॉक्टरों ने मृतक के परिजनों को पहले 2 लाख 65 हजार रुपए के बिल के लिए शव देने से इंकार कर दिया। जिससे कुछ समय के लिए तनाव की स्थित पैदा हो गई थी। राजनीतिक संगठन की मध्यस्थता से 12 घंटे बाद सोमवार दोपहर 3 बजे शव दिया गया। घटना से नागरिकों में नाराजगी है।  

अकोला, बुलढाणा, वाशिम में 9 मृत, 1,607 नए संक्रमित

अकोला में सोमवार को 7 की मौत होने से मृतकों की कुल संख्या अब 567 हो गई है। 338 पॉजिटिव मिलने से अबतक 34,201 लोग पॉजिटिव पाए जा चुके हैं। 274 लोगों के स्वस्थ हो जाने से ठीक होने वालों का आंकड़ा 28,961 पर पहुंच गया है। 4,673 एक्टिव मरीजों का इलाज जारी है। 

बुलढाणा जिले में सोमवार को 1 महिला ने दम तोड़ दिया। 874 नए पॉजिटिव मरीज मिलने से कुल मृतक 335 और संक्रमितों की संख्या 53,173 हो गई है। 691 मरीजों के स्वस्थ होने से अब ठीक हो चुके लोगों की तादाद 46,277 हो गई है। 6,591 एक्टिव मरीजों का उपचार जारी है। 

वाशिम जिले में सोमवार को 1 मरीज की मौत हो गई। 395 नए मरीज मिलने से कुल संक्रमित 22,399, तो मृतक बढ़कर 236 हो गए हैं। 279 मरीजों के स्वस्थ हो जाने से ठीक होने वालों की संख्या 17,846 पर पहुंच गई है। 4,159 सक्रिय मरीजों का उपचार जारी है। 

 

 

खबरें और भी हैं...